आगरा, जागरण संवाददाता। शमसाबाद में सर्राफ दंपती की हत्या के साथ डकैती के अगले ही दिन बुधवार को आगरा में एक और दुस्साहसिक वारदात हुई है। दिनदहाड़े आगरा-जलेसर मार्ग पर स्थित आर्यावर्त ग्रामीण बैंक को बदमाशों ने निशाना बनाया। आधा दर्जन बदमाश बैंक में पहुंचे और बैंककर्मियों से जमकर मारपीट की। तीन लाख रुपये लेकर बदमाश भागे हैं। डकैती के बाद पूरे इलाके में रेंज स्कीम लागू की गई है। पुलिस फोर्स सड़कों पर चैकिंग कर रहा है।

आगरा-जलेसर मार्ग पर स्थित आंवलखेड़ा में आर्यावर्त बैंक में बुधवार को लंच टाइम के बाद स्टाफ कामकाज में जुटा था। तभी एक साथ आधा दर्जन बदमाशों ने प्रवेश किया। आते ही बदमाश हथियार लहराने लगे। बैंक मैनेजर आरबी माहेश्वरी की कनपटी पर तमंचा रखकर कैश के बारे में जानकारी लेने लगे। बैंक मैनेजर के इन्कार करने पर मारपीट की गई और उन्हें गोली मारने की धमकी दी गई। ब्रांच में सहायक प्रबंधक दानपाल सिंह, कैशियर धीरेंद्र कुमार सागर, सहायक प्रबंधक त्रिलोक सैनी और सीनियर मैनेजर राकेश कुमार माहेश्वरी को भी बदमाशों ने घेर लिया। इनसे भी जमकर मारपीट की गई। इसके बाद बदमाश बैंक से तीन लाख रुपये लेकर भाग निकले। साथ में सीसीटीवी का डीवीआर भी ले गए। सफेद रंग की अपाचे बाइकों पर भागे बदमाशों का एक बैग बैंक में ही रह गया। इसमें 16000 रुपये निकले हैं। बताया जा रहा है कि बदमाशों के पास खबर थी कि बुधवार को बैंक में कैश आएगा, इसलिए उन्होंने बैंककर्मियों से ज्यादा कैश की पूछताछ करते हुए मारपीट की। विधायक रामप्रताप सिंह ने भी बैंक पहुंचकर घटना की जानकारी ली। 

पुलिस के लिए बड़ी चुनौती

शमसाबाद में हुए डबल मर्डर और डकैती की गुत्थी अभी तक पुलिस सुलझा नहीं सकी है। इसके साथ ही दिनदहाड़े बैंक डकैती ने बड़ी चुनौती दे दी है। समाचार लिखे जाने तक कई थानों का फोर्स आगरा-जलेसर मार्ग पर पहुंच गया है और इलाके में रेंज स्कीम लागू कर वाहनों की चेकिंग की जा रही है।  

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस