आगरा, जेएनएन। भव्य राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होने को साध्वी ऋतंभरा के बाद महंत फूलडोल बिहारी दास को भी आमंत्रण मिला है। फूलडोल बिहारी दास कहते हैं कि उन्होंने मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई। भूमिपूजन में शरीक होना जीवन के सबसे महत्वपूर्ण पलों में एक होगा। 

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल के सदस्य एवं मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले महंत फूलडोल बिहारीदास अयोध्या में पांच अगस्त को हो रहे श्रीराममंदिर के भूमि पूजन में बुलावा मिलने से उत्साहित हैं। कहते हैं चूंकि आयोजन में चंद लोगों की मौजूदगी ही रहेगी। इसलिए उन्हें उम्मीद नहीं थी कि उन्हें भूमिपूजन के लिए आमंत्रित किया जाएगा। जब विहिप कार्यालय से उनके पास फोन आया कि पांच अगस्त को राममंदिर के भूमि पूजन में उन्हें शरीक होना है तो रोम-रोम खिल उठा। वह तीन अगस्त की सुबह अयोध्या के लिए रवाना होंगे। उधर, साध्वी ऋतंभरा को आमंत्रण पहले ही मिल चुका है। वह भी पहले बता चुकी हैं कि भूमिपूजन में शामिल होंगी। 

महामंडलेश्वर हरिहरानंद को आया भूमि पूजन का निमंत्रण

देवी संपदा मंडल महानिर्वाणी अखाड़ा, मैनपुरी के महामंडलेश्वर स्वामी हरिहरानंद महाराज भी अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में शामिल होंगे। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने उनको भूमि पूजन में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजा है। स्वामी हरिहरानंद महाराज ने बताया निमंत्रण उनके अमर कंटक आश्रम पर पहुंचा है। उनको भूमि पूजन का आमंत्रण मिलने से अपार आनंद की अनुभूति हो रही है। वह भूमि पूजन में शामिल होने के लिए कल शाम को अयोध्या रवाना होंगे।

गोकुल की रज भेजी जाएगी अयोध्या

पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन होना है। इस पूजन के लिए भगवान श्रीकृष्ण की क्रीड़ा स्थली गोकुल से भी ब्रज की रज और ठाकुरजी का पंचामृत जल भेजा जाएगा। शनिवार को नंदभवन से इन्हें अयोध्या भेजने की तैयारी की गई। गोकुल नगर पंचायत के अध्यक्ष संजय दीक्षित ने बताया कि गोकुल की रज साध्वी ऋतंभरा के माध्यम से अयोध्या भेजी जाएगी। रविवार को यह रज दी जाएगी। सेवायत पुजारी मथुरा प्रसाद, सतीश शर्मा, राजीव शर्मा, भीकू मौजूद रहे।  

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस