आगरा, जागरण संवाददाता। लाॅकडाउन में बंद हुई औद्योगिक गतिविधियों को रफ्तार देने के लिए रेलवे भी आगे आया है। रेलवे ने माल ढुलाई भाडे़ में रियायत की घोषणा की है, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ ले सके। यह रियायत एक साल तक जारी रहेगी।

आगरा रेल मंडल के पीआरओ एसके श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना महामारी में लाकडाउन के चलते सब गतिविधियां बंद थी। अनलाक होने के बाद औद्योगिक गतिविधि शुरू हुई। ऐसे में एक स्थान से दूसरे स्थान तक तेजी से माल पहुंचे और लोगों पर ज्यादा बोझ न पडे़ इसके लिए रेलवे ने माल ढुलाई भाडे़ में कटौती की है। रेलवे ने अब 100 किमी की न्यूनतम दूरी की बाध्यता खत्म कर दी है। इसके अंतर्गत अब 50 किमी तक की माल ढुलाई पर 50 फीसद, 51 से 75 किमी पर 25 फीसद, 76 से 90 किमी पर 10 फीसद तक की छूट दी गई है। 91-100 किमी तक की ढुलाई भी रेलवे द्वारा की जाएगी। यह रियायत कोयला, लौह खनिज, मिलिट्री यातायात, रेल मैटेरियल कंसाइनमेंट व कंटेनर ढुलाई के अतिरिक्त अन्य सभी तरह के माल की ढुलाई पर लागू होगी। यह सुविधा 30 जून 2021 तक लागू रहेगी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021