आगरा, जागरण संवाददाता। 25 सालों से लगातार पंजाबी समाज के युवक-युवतियों का परिचय करा उन्हें वैवाहिक बंधन में बंधवा रही पंजाबी सभा महानगर रविवार को 25वां युवक-युवती परिचय सम्मेलन कर रही है। सम्मेलन में 250 युवक-युवतियों के बायोडाटा की पुस्तक पंजीकृत सदस्यों को दी जाएगी।

परिचय सम्मेलन की शुरुआत 25 साल पहले पंजाबी सभा महानगर के प्रथम अध्यक्ष स्वर्गीय रामप्रकाश खेड़ा ने की थी। सम्मेलन के लिए हर साल 300-400 फार्म भरे जाते हैं। उनमें से हर साल 30-40 प्रतिशत युवक-युवतियों की आपस में शादी हो जाती है। इस सम्मेलन के लिए दो महीने पहले से तैयारी शुरू की जाती है। पंजाबी समाज के अविवाहित युवकों और युवतियों का बायोडाटा एकत्र किया जाता है। सभी बायोडाटा को किताब के रूप में प्रकाशित किया जाता है। इस किताब को पंजीकृत सदस्यों को दिया जाता है। इस किताब में प्रकाशित बायोडाटा के आधार पर युवक-युवतियों के अभिभावक मिलान करते हैं और उसके बाद रिश्ता जोड़ा जाता है। इस साल 250 युवक-युवतियों के फार्म भरे गए हैं। रविवार को आयोजित सम्मेलन में प्रकाशित पुस्तक का विमोचन भी किया जाएगा।

इस तरह के आयोजन समाज के लोगों के विवाह योग्य बच्चों को आपस में मिलाने का एक सशक्त माध्यम है। सर्वप्रकाश कपूर, अध्यक्ष, पंजाबी सभा महानगर

अगर किसी युवती के परिवार को आर्थिक सहायता की जरूरत होगी, तो सभा गोपनीय तरह से उनकी आर्थिक मदद करती है।

- सुरेश भांबरी, कोषाध्यक्ष

पंजाबी सभा का गठन स्वर्गीय रामप्रकाश खेड़ा ने इस सोच के साथ किया था कि बंटवारे के बाद अपने समाज को संघटित कर सेवा कार्यों से समाज के लोगों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचे।

- विश्वनाथ जुनेजा, संरक्षक, पंजाबी सभा महानगर 

Edited By: Tanu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट