आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में उच्च न्यायालय खंडपीठ आंदोलन को पार्षदों ने भी अपना समर्थन दिया है। बुधवार को अधिवक्ताओं के साथ बैठक के बाद पार्षदों ने कहा कि उच्च न्यायालय खंडपीठ स्थापना का प्रस्ताव पारित करने के लिए नगर निगम का विशेष सदन बुलाया जाएगा। इसके साथ ही पार्षद अपने-अपने वार्ड में हस्ताक्षर अभियान चलाकर आंदाेलन से जनता को जोड़ेंगे।

दीवानी परिसर में उच्च न्यायालय खंडपीठ स्थापना संघर्ष समिति के नेतृत्व में बुधवार को अधिवक्ताओं ने जुलूस निकाला। वह न्यायिक कार्य से विरत रहे। इसके बाद पार्षदों के साथ बैठक की। जिसमें भाजपा,बसपा व कांग्रेस के पार्षद दलो के नेताओं समेत 16 पार्षद शामिल हुए। सदन के चलते कुछ पार्षद नहीं आ सके। बैठक में शामिल पार्षदों ने आगरा में खंडपीठ स्थापना का संकल्प लिया।

भाजपा पार्षद दल के नेता मोहन सिंह लोधी ने कहा कि उच्च न्यायालय खंडपीठ स्थापना के लिए वार्ड स्तर पर जनसमर्थन जुटाया जाएगा। इसके साथ ही जनप्रतिनिधियों के सामने भी यह मुद्दा उठाया जाएगा। बसपा पार्षद दल के नेता मनोज सोनी ने कहा कि खंडपीठ स्थापना की मांग सिर्फ अधिवक्ताओं की नहीं है, आसपास के जिलों में रहने वाले वादकारियों की भी है। वहीं, कांग्रेस पार्षद दल के नेता शिरोमणि सिंह ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में जस्टिस जसवंत सिंह आयोग बना था। आयोग ने आगरा में उच्च न्यायालय खंडपीठ स्थापित करने के पक्ष में रिपोर्ट दी थी।

बैठक में पार्षद शरद चौहान, ब्रजमोहन, अरविंद मथुरिया, अनुराग चतुर्वेदी, महेश संवेदी, हेमंत पाल, राहुल चौधरी, सुषमा जैन, होरीलाल बघेल, जितेंद्र पाराशर ने भी अपने विचार व्यक्त किए। सभी ने कहा कि विशेष सदन बुलाने के लिए मेयर से वार्ता करेंगे। बैठक में वरिष्ठ अधिवक्ता दुर्ग विजय सिंह भइया, राम प्रकाश शर्मा, प्रमोद शर्मा, हेमंत भारद्वाज, अनिल तिवारी, अमिताभ शर्मा, नवनीत दीक्षित, रामदत्त दिवाकर आदि मौजूद रहे। 

Edited By: Tanu Gupta