आगरा, विमल कुलश्रेष्ठ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में शुक्रवार को हुए उपद्रव से चूड़ी उद्योग को बड़ा झटका लगा है। इस आक्रोश की आंच इतनी तेज थी कि एक ही दिन में उद्योग को लाखों का नुकसान हो गया। उद्यमियों को ङ्क्षचता सता रही है कि श्रमिक जल्द काम पर नहीं लौटे तो हालात गंभीर हो सकते हैं।

सीएए के विरोध में शुक्रवार को नालबंद, नगला बरी, जाटवपुरी सहित कई स्थानों पर जमकर बवाल हुआ। शहर के हालात को भांपते हुए एक दिन पहले ही चूड़ी कारखानों में कार्यरत श्रमिक काम पर आने से मना कर गए थे। बवाल के बाद दूसरे दिन शनिवार को भी औद्योगिक आस्थान, सुहाग नगर, करबला, भीमनगर, नई बस्ती, स्टेशन रोड, रानी वाला कंपाउंड, नगला बरी, जाटवपुरी, आसफाबाद से मक्खनपुर तक अधिकांश कारखानों में काम नहीं लग सका, जिससे चूड़ी उद्योग को लाखों की चपत लगी है। चूड़ी उत्पादन न होने से कारखानों में दो दिन में लाखों की गैस फुंक गई। सेवायोजकों का कहना है कि शहर के हालात को देखते हुए श्रमिकों के जल्द काम पर लौटने की उम्मीद है।

एक जख्म भी नहीं भर पाया

कांच व चूड़ी उद्योग पर ही पूरे शहर की अर्थव्यवस्था टिकी है। अप्रैल में चूड़ी उद्योग में डेढ़ माह तक लंबी हड़ताल चली, जिससे चूड़ी उद्योग से जुड़े हजारों श्रमिकों के परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गए। तमाम श्रमिक पलायन कर गए। सदर विधायक व जिला प्रशासन की पहल के बाद श्रमिक काम पर लौटे थे। हालांकि उद्योग को ये दौर गहरा जख्म दे गया था।

  • चूड़ी के संचालित कारखाने - 90
  • कारखाने में कार्यरत श्रमिक - 10 हजार
  • गैस सहित एक दिन का खर्च - 30 हजार
  • दो दिन में हुआ नुकसान - 50-55 लाख

शहर में हुए बवाल के बाद अब हालात पूरी तरह सामान्य हो गए हैं। हमारी सभी श्रमिकों से अपील है कि वह जल्द से जल्द काम पर वापस लौट आएं, जिससे शहर में अमन चैन कायम हो सके।

- हनुमान प्रसाद गर्ग, डायरेक्टर, दि ग्लास इंडस्ट्रियल सिंडीकेट

जिला व पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था के सख्त इंतजाम किए गए हैं। चूड़ी कारखानों में काम करने वाले श्रमिकों को किसी से डरने की जरूरत नहीं है। वह बिना किसी डर के काम पर लौटें, जिससे कार्य जल्द पटरी पर आ सके।

- अनिल जैन पिंकी, उपाध्यक्ष दि ग्लास इंडस्ट्रियल सिंडीकेट

 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस