आगरा, जागरण संवाददाता। जिला जेल में निरुद्ध बंदी की तबीयत बिगडऩे पर एसएन इमरजेंसी में भर्ती कराया। यहां से अस्थि रोग वार्ड में शिफ्ट कर दिया, रात भर बंदी दर्द से कराहता रहा। शनिवार सुबह मौत होने पर परिजनों ने सर्जरी की जगह अस्थि रोग वार्ड में भर्ती कराने के आरोप लगाते हुए हंगामा किया। एसएन प्रशासन ने जांच कराने का आश्वासन दिया है।

जिला जेल में निरुद्ध बंदी कासगंज निवासी सुरेश सिंह (62) को यूरिन इन्फेक्शन होने पर शुक्रवार को इमरजेंसी में भर्ती कराया गया। यहां से अस्थि रोग वार्ड में शिफ्ट कर दिया, परिजनों का आरोप है कि रात भर दर्द से वह कराते रहे। जूनियर डॉक्टरों से दवाएं देने के लिए कहा, उन्होंने सर्जरी विभाग में ले जाने के लिए कह दिया। वे नई सर्जरी बिल्डिंग में स्थित सर्जरी विभाग में ले जाने लगे, आरोप है कि जूनियर डॉक्टरों ने दोबारा से इमरजेंसी में भर्ती कराने के लिए कह दिया। रात भर दर्द से कराहने के बाद सुबह मौत हो गई। इससे आक्रोशित परिजनों ने हंगामा किया। प्राचार्य डॉ. जीके अनेजा ने बताया कि बंदी के कूल्हे में भी समस्या थी, इसलिए वार्ड में शिफ्ट किया गया था। मामले की जांच कराई जाएगी।  

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप