आगरा, विद्याराम नरवार। डाक विभाग अब प्राइवेट कंपनियों को मात देने के लिए मैदान में उतर आया है। पार्सल होने वाली वस्तुओं की पैकिंग ऐसी होगी कि प्राइवेट कंपनी अपने आपको काफी पीछे महसूस करेंगी। सफेद कपड़े में बांधकर पार्सल करने की व्यवस्था को डाक विभाग बदल रहा है।

सर्किल के 11 प्रधान और मुख्य डाकघरों से वाटरप्रूफ पैकिंग की सुविधा दिए जाने के लिए तैयारी हो चुकी है। इन डाकघरों पर पैकिंग का सामान भेजा जा चुका है। चार्ज क्या होगा, इसका अभी निर्णय होना बाकी है। किसी भी कीमत पर आपका सामान अब खराब नहीं हो सकेगा। पैकिंग के लिए 13 तरह के आइटम प्रयोग में लाए जाएंगे। जिससे न तो आपका सामान भीग सकेगा और न ही टूट सकेगा। पार्सल सुरक्षित अपने स्थान तक पहुंच सकेगा।

सामान भेजा जा रहा है, वह सुरक्षित रहे

इस नई व्यवस्था में डाक विभाग ने इस बात का विशेष ध्यान रखा है कि जो सामान भेजा जा रहा है, वह सुरक्षित रहे। टूटे नहीं। फूटे नहीं, और बारिश के मौसम में भीगे नहीं।

इसके लिए पैकिंग में प्लास्टिक का फाइबर बैग, पेपर फाइबर बैग, बोप टेप, छोटे और बड़े बाक्स, प्लास्टिक फिल्म, रोल स्ट्रीच रेपिंग मशीन, स्ट्रेपिंग रोल आदि 13 तरह के आइटम पैकिंग के लिए उन 11 डाकघरों पर भेजे गए हैं, जिनपर कम से कम एक माह में एक हजार से अधिक पार्सल होते हैं। विभाग का उद्देश्य यह है कि जो भी व्यक्ति पार्सल करते हैं, उनका सामान सुरक्षित अपने स्थान तक पहुंच सके।

इन डाकघरों पर हो रही है शुरूआत

प्रधान डाकघर आगरा, उप डाकघर संजय पैलेस आगरा, अलीगढ़, बुलंदशहर, एटा, इटावा, झांसी, मैनपुरी, फिरोजाबाद, मथुरा, और मुख्य डाकघर हाथरस में पैकिंग का सामान भेजा जा चुका है। शीघ्र ही पैकिंग की शुरूआत की जाएगी।

हमारा उद्देश्य अपने ग्राहकों को बेहतर सुविधा देना है। सामान खराब न हो इसके लिए पैकिंग की बेहतर व्यवस्था की है। सभी 11 डाकघरों पर पैकिंग का सामान भेज दिया गया है। धर्मेश गगनेजा, सहायक निदेशक, पीएमजी कार्यालय आगरा 

Edited By: Abhishek Saxena