आगरा, गौरव भारद्वाज। लोकसभा चुनाव में जीत के लिए हर वोट को अपने पक्ष में करने के लिए नेता जद्दोजहद में जुटे हुए हैं। हर वोट की गिनती की जा रही है। ऐसे में रोजी-रोटी या पढ़ाई के लिए जिले से बाहर रह रहे वोटरों पर भी राजनीतिक पार्टियों की नजर है। इलेक्शन वार रूम में ऐसे मतदाताओं को लुभाने और अपने पाले में करने पर भी विचार-मंथन जारी है। मतदाताओं को खोजने और साधने की कवायद भी शुरू कर दी है।

दो लोकसभा क्षेत्रों में बंटे आगरा जिले के अधिकांश परिवारों के एक-दो सदस्य जिले से बाहर नौकरी करते हैं। एक आकलन के मुताबिक जिले के एक लाख से अधिक लोग रोजी-रोटी के लिए बाहर रहते हैं। सभी प्रमुख दलों ने अपने कार्यकर्ताओं को यह पता लगाने का जिम्मा सौंपा है कि किस गांव के कितने लोग बाहर रहते हैं। अब कार्यकर्ता बाहर नौकरी करने वालों के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं। इनके फोन नंबर लेकर बात की जा रही है। इनसे मतदान के दिन वोट डालने आने के लिए गुजारिश भी की जा रही है।

केस-1 किरावली निवासी योगेश बाहर नौकरी करते हैं। 18 अप्रैल को वे वोट डालने आगरा आ रहे हैं या नहीं, इसके लिए उनके पास कई फोन पहुंच चुके हैं।

केस-2 कमला नगर निवासी विजय इंदौर में नौकरी करते हैं। वोट डालने के लिए आगरा आने के लिए उनके परिजनों से संपर्क किया गया है।

युवाओं की संख्या ज्यादा

बाहर नौकरी व पढ़ाई करने वालों में युवाओं की संख्या ज्यादा है। अधिकांश दिल्ली एनसीआर, हरियाणा, राजस्थान में निजी संस्थानों में नौकरी कर रहे हैं। अपने-अपने प्रभाव वाले वोटरों को लाने के लिए आने-जाने का खर्चा तक देने को तैयार हैं। उनके परिवारीजनों से भी संपर्क साधा जा रहा है।

ये है मतदाताओं की स्थिति

आगरा सुरक्षित लोकसभा सीट - 19,15571

फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट- 13,99963 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस