मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

आगरा, जागरण संवाददाता। ताजगंज के पाक टोला बवाल में एक नामजद समेत 300 लोगों के खिलाफ आगजनी और पथराव समेत अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर समेत चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं सतर्कता के चलते बस्ती में बुधवार को पुलिस के साथ पीएसी भी तैनात रही। सीओ समेत अन्य अधिकारी दिन भर वहां डेरा डाले रहे।

पाक टोला में राठौर समाज द्वारा मंगलवार की रात शोभा यात्रा निकाली गई थी। वाल्मीकि बस्ती से शोभा यात्रा निकलने के बाद कुछ युवक बस्ती में लघुशंका करने लगे। वाल्मीकि समाज के युवकों ने इसका विरोध किया। इस पर राठौर समाज के दर्जनों युवकों ने वहां पथराव और तोडफ़ोड़ कर दी। वाल्मीकि समाज के सिकंदर के खोखे और बाइक में आग लगा दी। लोगों के घरों में घुसकर तोडफ़ोड़ कर दी।

मामले में सिकंदर ने नामजद जयराम के अलावा 250 से 300 अज्ञात लोगों के खिलाफ घरों में घुसकर तोडफ़ोड़, आगजनी आदि धाराओं में मुकदमा कराया है। जयराम की बस्ती में दुकान है। वह घटना के बाद दुकान बंद करके भाग गया था। सतर्कता के चलते महिला पुलिस के साथ पीएसी भी तैनात है। सीओ सदर विकास जायसवाल ने बताया बवाल के चार आरोपितों पवन, मिथुन, रवि और अमित को गिरफ्तार किया है। पवन ताजगंज थाने का हिस्ट्रीशीटर है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।

आग में जला सामान साक्ष्य के रूप में दाखिल

बवाल करने के आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने अहम साक्ष्य जुटाए हैं। उसने खोखे में लगी आग में जला सामान भी साक्ष्य के रूप में दाखिल किया है।

गलियों में दुकानों पर तैनात रहे पुलिसकर्मी

गुरुवार को रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अराजक तत्वों द्वारा माहौल खराब करने की आशंका थी। वह बाजार में किसी तरह की अफवाह नहीं फैला सकें, इससे निपटने के लिए गलियों में दुकानों पर पुलिसकर्मी तैनात रहे।

दबिश के चलते घरों से भागे

बवाल के बाद पुलिस ने देर रात से दबिश का सिलसिला शुरू कर दिया था। आरोपित चार लोगों की गिरफ्तारी का पता चलने के बाद पथराव और आगजनी में शामिल अन्य आरोपित अपने घरों से भाग खड़े हुए।  

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप