आगरा (जागरण संवाददाता): बेटे राजू की हत्या के बाद अब मां को भी आरोपित पक्ष के लोग धमका रहे हैं। उन पर समझौते को दबाव बनाया जा रहा है। गुरुवार को व्यापारियों के प्रतिनिधि मंडल के साथ पहुंची राजू की मां ने डीआइजी के सामने अपना यह दर्द बताया। डीआइजी लव कुमार ने उन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया।

सिकंदरा के गैलाना रोड स्थित नरेंद्र एन्क्लेव निवासी राजू गुप्ता की 22 नवंबर को पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी। इसमें दो पड़ोसियों के साथ पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी हत्या का मुकदमा दर्ज है। अभी तक आरोपित गिरफ्तार नहीं हुए हैं।

राष्ट्रीय व्यापारी पार्टी के पदाधिकारियों के साथ गुरुवार दोपहर राजू की मां रेनूलता गुप्ता डीआइजी से मिलीं। उन्होंने कहा कि अभी तक आरोपित गिरफ्तार नहीं हुए हैं। वे उनपर समझौता करने का दबाव बना रहे हैं। इसको लेकर उनको धमकी भी दी जा रही हैं। प्रतिनिधि मंडल ने आरोपितों की जल्द गिरफ्तार और रेनूलता गुप्ता को सुरक्षा देने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में रवि प्रकाश अग्रवाल, राजेश गुप्ता पूनम गुप्ता, कल्पना अग्रवाल व अन्य शामिल रहे।

बिना शिनाख्त परेड चिह्नित किए आरोपित पुलिसकर्मी

राजू की हिरासत में मौत के बाद उसकी मां रेनू कह रही थी कि पुलिसकर्मियों ने उसके सामने ही पीट-पीटकर बेटे की हत्या की है। उन्होंने आरोपित पुलिसकर्मियों को पहचानने का भी दावा किया था। इसके बाद भी बिना शिनाख्त परेड आरोपित पुलिसकर्मियों को चिह्नित कर लिया। उन्होंने इसको लेकर सवाल उठाए हैं।

कोर्ट में समर्पण की फिराक में पुलिसकर्मी

हिरासत में मौत के मामले में चिह्नित हुए पुलिसकर्मी अब अदालत में समर्पण की फिराक हैं। गुरुवार को आरोपित दारोगा समर्पण के लिए दीवानी में पहुंचा। उसके प्रार्थना पत्र में कोई कमी रह गई। इसलिए वह वापस हो गया। शुक्रवार को वह समर्पण को अदालत में प्रार्थना पत्र दे सकता है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021