आगरा, जागरण संवाददाता। बचपन की छोटी-छोटी खुशियां ही बड़़े होने पर यादगार बनती हैं। बचपन की ये स्मृतियां तब और भी अमिट हो जाती हैं जब अचानक किसी अजनबी से मिली हों। गुरुवार को कुछ ऐसी ही खुशी तीन साल के मासूम को ताजगंज की पुलिस ने दी। जब उसे खेल-खेल मे पता चला कि गुरुवार को मासूम का जन्मदिन है। पुलिस ने गुरुवार की शाम को मासूम के लिए यादगार बना दिया।

खाकी का मददगार चेहरा कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान लगातार सामने आ रहा है। गरीबों की मदद से लेकर मासूम बच्‍चों के जन्‍मदिन मनाकर उनके चेहरोंं पर खुशी लाने तक जैसे तमाम काम खाकी लगातार कर रही है। ऐसा ही एक नेक काम पुलिसवालों ने आगरा में भी किया। दरअसल ताजगंज के कलाल खेरिया का रहने वाले हरीश परिवार के साथ थाना बसई चौकी के पास झुग्गी में रहते हैं। दंपती के तीन साल का बेटा शिवा और उससे बड़ी बेटी आयुषी है। गुरुवार को शिवा और आयुषी खेलते- खेलते चौकी पर आ गए। बसई चौकी इंचार्ज मनोज भाटी से दोनों बच्चे काफी घुले मिले हैं। मनोज भाटी को खेलने के दौरान शिवा ने बताया कि अंकल आज मेरा जन्मदिन है। उन्होंने बव्च्चे के लिए इसे यादगार बनाने का फैसला किया। चौकी प्रभारी ने इस बारे में इंस्पेक्टर ताजगंज अनुज कुमार और सीओ सदर विकास जायसवाल को बताया।

सभी ने मिलकर बच्चे का जन्मदिन मनाने की तैयारी कर ली। शाम को शिवा की झुग्गी पर सीओ विकास जायसवाल, इंस्पेक्टर अनुज कुमार, चौकी प्रभारी मनोज भाटी केक और उपहार लेकर पहुंच गए। झुग्गी के पास ही मेज लगाकर शिवा के हाथों केक कटवाया। उसके लिए लाए गए उपहार मासूम के हाथों में दिए तो खुशी के मारे परिवार के लोगों की आंखें भर आई। इस दौरान पुलिस ने शारीरिक दूरी का पालन किया। हरीश और परिवार के लोगों का कहना था कि वह जिंदगी भर इस शाम को नहीं भूलेंगे। 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस