आगरा, जागरण संवाददाता। चार दिन पहले बुर्का पहनाकर अगवा की गई किशोरी काे अब तक पुलिस बरामद नहीं कर सकी है। पुलिस की टीम ने आरोपित की पत्नी और दो भाभियों को जेल भेज दिया। भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस की टीम मेरठ में डेरा जमाए हैं।अभी तक किशोरी का सुराग नहीं लगा है।

न्यू आगरा क्षेत्र में अपनी बुआ के घर रह रही साढ़े सोलह वर्ष की किशोरी 23 फरवरी को बाजार से दवा लेने गई थी। रास्ते से ही किशोरी को महताब राणा बुर्का पहनाकर अगवा कर ले गया था। न्यू आगरा थाने में किशोरी के पिता ने नाबालिग के अपहरण की धारा में मुकदमा दर्ज करा दिया। सीसीटीवी फुटेज में आरोपित किशोरी को बुर्का पहनाकर ले जाता हुआ नजर आ गया। इसके बाद से पुलिस उसकी गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है। मगर, अभी तक सफलता नहीं मिली है। शुक्रवार को पुलिस ने आरोपित की पत्नी भूरी और भाभी सन्नो व रेशमा को गिरफ्तार कर लिया। उन्हें कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया। इन पर किशोरी और आरोपित को छिपाने का आरोप है। एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि चार टीमों का गठन किया गया है। किशोरी की जल्द बरामदगी और आरोपित की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। एक टीम मेरठ में संभावित स्थानों पर छापामारी कर रही है। 

तीसरी बार किया है किशोरी का अपहरण

किशोरी के स्वजन के अनुसार, 20 जून 2018 को भी आरोपित महताब ताजगंज क्षेत्र से किशोरी का अपहरण कर चुका है।पुलिस ने आरोपित के स्वजन पर दबाव बनाया।तब तीन माह बाद वे मेरठ में वह भुवनपुर थाना क्षेत्र में छोड़कर चले गए थे। वहां से पुलिस ने किशोरी को बरामद कर लिया।आरोपित गिरफ्तार नहीं हुआ। इसी बीच उसने हाईकोर्ट से गिरफ्तारी पर स्टे ले लिया। इस घटना के दो माह बाद वह फिर किशोरी को अगवा कर ले गया।स्वजन ने इस बार मुकदमा दर्ज नहीं कराया था। पुलिस ने फिर किशोरी को बरामद कर लिया। आरोपित भी पकड़ा गया। पूर्व में दर्ज मुकदमे में स्टे होने के कारण पुलिस ने उसे छोड़ दिया। स्टे खत्म कराने के बाद पुलिस ने कोर्ट से वारंट लिए और उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। छह माह बाद ही वह जमानत पर बाहर आ गया।किशोरी को उसके स्वजन ने न्यू आगरा क्षेत्र में बुआ के घर भेज दिया। अब वह उसे न्यू आगरा क्षेत्र से भी ले गया है।

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट