आगरा, जागरण संवाददाता। विकास कार्यो के लिए की जानी वाली खोदाई में हो रही लापरवाही के कारण आम जनता रोज प्रभावित हो रही है। मदिया कटरा क्षेत्र में शनिवार रात टोरंट पावर की लाइन डालने के दौरान ग्रीन गैस लिमिटेड की पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। सूचना पर एक घंटे में ग्रीन गैस की टीम ने मौके पर पहुंच मरम्मत कार्य शुरू कर दिया। सुबह जब लोग उठे तो लाइन में मौजूद गैस ही प्रयोग हो सकी, जिस कारण कुछ घरों में सुबह की चाय, नाश्ता नहीं बन सका। मरम्मत कार्य चल रहा है, जिसके दोपहर बाद पूरा होने की संभावना है। घटना से पांच हजार घरों की आपूर्ति बाधित हो गई है।

मदिया कटरा क्षेत्र में शनिवार रात पौने तीन बजे टाेरंट की लाइन डाली जा रही थी, जिस कारण पीएनजी की मुख्य लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। गैस का रिसाव होने लगा, जिस कारण श्रमिकाें में खलबली मच गई। पौने चार बजे लगभग ग्रीन गैस की टीम पहुंची और वाल्व बंद कर रिसाव को रोका गया। इसके बाद मरम्मत कार्य शुरू हुआ। लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण पश्चिमपुरी, शास्त्रीपुरम, आवास विकास, लोहामंडी, जयपुर हाउस, प्रताप नगर सहित दर्जनभर क्षेत्र की आपूर्ति बाधित हो गई। सुबह जल्दी उठने वालों को लाइन में बची हुई गैस मिली, जिससे चाय बन गई, जबकि सैकड़ों घरों में सुबह की चाय, नाश्ता भी नहीं बन सका। आवास विकास निवासी वीना गुप्ता ने बताया कि सुबह सात बजे उठकर चाय बनाने गई, तो आपूर्ति बाधित थी। आस-पास के क्षेत्र में पता किया तो लाइन डैमेज होने की जानकारी हुई। सुबह की चाय के साथ ही नाश्ता भी नहीं बन सका। रविवार होने के कारण सभी घर में ही थे, लेकिन बाजार से बेड़ई मंगानी पड़ी। पश्चिमपुरी निवासी प्रियंका अग्रवाल ने बताया कि पीएनजी लाइन बाधित होने के कारण नाश्ता नहीं बन सका। बच्चों को ब्रेड और मक्कखन खिलाकर काम चलाया। ग्रीन गैस लिमिटेड के मीडिया समन्वयक विनय भारद्वाज ने बताया कि टीम मरम्मत कार्य कर रही है। दोपहर तक कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

Edited By: Prateek Gupta