आगरा, जागरण टीम। उत्तर प्रदेश के एटा जनपद में एक ऐसा मामला सामने आया जिसने पुलिस को भी हैरान कर दिया। पुलिस को भी फैसला देने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। आखिरकार ऐसा रास्ता निकाला गया जिससे दोनों पक्ष सहमत हो गए। 

श्वान के स्वामित्व को लेकर दो लोग आपस में भिड़ गए

एटा जनपद के अलीगंज कस्बा में श्वान के स्वामित्व को लेकर दो लोग आपस में भिड़ गए। एक पक्ष का आरोप है कि यह मेरा श्वान है, जो आठ माह पूर्व गायब हो गया है। वहीं दूसरे पक्ष का कहना था कि वह यह श्वान खरीदकर लाया था और श्वान उसको पहचानता है। बहरहाल पुलिस ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद कसमों के आधार पर एक पक्ष को श्वान सुपुर्द कर मामले को निस्तारण कर दिया है।

आठ महीने पहले गायब हुआ था श्वान

रविवार को कायमगंज फर्रूखाबाद निवासी उमेश सक्सेना ने अलीगंज कोतवाली पुलिस से शिकायत की कि उनका कुत्ता आठ माह पूर्व घर से गायब हो गया है, जो अलीगंज के ग्राम फरसोली निवासी धर्मपाल सिंह के यहां पर है।

दोनों पक्षों ने अपने-अपने तर्क रखे

पुलिस ने धर्मपाल को श्वान के साथ थाने बुलाकर पूछताछ की। दोनों पक्षों ने अपने-अपने तर्क रखे। किसी प्रकार से समाधान न होने पर पुलिस ने कहा कि जो भी व्यक्ति मंदिर में कसम खा लेगा, उसको श्वान दिया जाएगा।

एक पक्ष ने खाई कसम

धर्मपाल सिंह द्वारा मंदिर में कसम खाली, लेकिन उमेश सक्सेना ने कसम नहीं खाई। इसके बाद पुलिस ने उक्त श्वान को धर्मपाल के सुपुर्द कर दिया। श्वान के स्वामित्व को लेकर हुआ विवाद नगर में चर्चा हो विषय बन रहा। 

ये भी पढ़ें... Agra News: बुजुर्ग व्यवसायी दंपती की हत्या कर 30 लाख की लूट, घटना के बाद बाजार बंद

सात फेरों के 14 साल बाद निकली पत्नी की लाटरी, पति को दिया ये आफर, इंकार करने पर पुलिस के पास पहुंची

Edited By: Abhishek Saxena