आगरा, जागरण संवाददाता। दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लि. (डीवीवीएनएल) के अफसरों की लचर कार्यशैली बुधवार सुबह आधे शहर के लाखों लोगों पर भारी पड़ी। 16 घंटे के बाद भी सिकंदरा से बाईंपुर के मध्य हुआ फाल्ट ठीक नहीं हो सका। इसके चलते सिकंदरा स्थित गंगाजल और एमबीबीआर प्लांट बंद हैं। सुबह नौ बजे आधे शहर की जलापूर्ति नहीं हो सकी। यहां तक वितरण निगम के अफसरों के फोन उठना बंद हो गए। इसकी शिकायत जल संस्थान के अफसरों ने नगरायुक्त से की है। जल संस्थान की टीम ने टैंकरों से पानी भेजा। दोपहर तक फाल्ट ठीक होने पर शाम की जलापूर्ति होगी।

सिकंदरा में 144 एमएलडी के दो प्लांट हैं। गंगाजल प्लांट से 140 एमएलडी और एमबीबीआर प्लांट से 72 एमएलडी यमुनाजल की आपूर्ति होती है। मंगलवार शाम तेज बारिश के चलते बाईंपुर के आसपास फाल्ट हो गया। इससे दोनों प्लांट बंद हो गए। जल संस्थान के अफसरों ने इसकी जानकारी डीवीवीएनएल के अफसरों को दी। रात तक आवासीय क्षेत्र की बिजली चालू हो गई लेकिन दोनों प्लांट की चालू नहीं हुई। बिजली न आने के चलते बुधवार आधे शहर में जलापूर्ति नहीं हो सकी। जल संस्थान के सचिव एसके श्रीवास्तव ने बताया कि केबिल की जल्द मरम्मत के लिए कई बार डीवीवीएनएल के अफसरों को फोन किया गया लेकिन सुबह नौ बजे तक फाल्ट ठीक नहीं हो सका।

इन क्षेत्रों में जलापूर्ति रही प्रभावित : सिकंदरा, बोदला, शाहगंज, लोहामंडी, लायर्स कालोनी, संजय प्लेस, तोता का ताल, केदारनगर, बालाजीपुरम, शाहगंज, आवास विकास कालोनी सेक्टर एक से 16, जगदीशपुरा, किशोरपुरा, लायर्स कालोनी, खंदारी, बापू नगर, टीपी नगर।

Edited By: Prateek Gupta