आगरा,जागरण संवाददाता। कोरोना की दूसरी लहर में रेलवे को रिजर्वेशन निरस्त होने से आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। इसके साथ ट्रेनों में बड़ी संख्या में यात्रियों ने बिना टिकट यात्री कर भी नुकसान पहुंचाया। अप्रैल और मई में आगरा रेल मंडल में चेकिंग के दौरान 5024 यात्री बिना टिकट पकड़े गए।

काेरोना की दूसरी लहर में रेलवे को काफी नुकसान हुआ। अप्रैल माह में रिजर्वेशन निरस्त होने के कारण आगरा मंडल में पांच करोड़ रुपये रिफंड किए, जबकि मई में तीन करोड़ रुपये लौटाने पडे़। इसके अलावा रेलवे पर बिना टिकट यात्रा करने वालों ने भी चोट पहुंचाई है। कोरोना काल में ज्यादा सख्ती न होने के चलते बिना टिकट यात्रा करने वालों की संख्या बढ़ी है। स्टेशनों पर चेकिंग में में दो माह में 5024 यात्री बिना टिकट पकड़े गए हैं। इसमें अप्रैल माह में 4024 यात्री, जबकि मई माह में 800 यात्री बिना टिकट सफर करते हुए पकड़े गए। मई में लाकडाउन में ट्रेनों में कम यात्री थे और आराम से रिजर्वेशन मिल रहा था, लेकिन फिर भी बिना टिकट यात्रा करते हुए यात्री पकडे़ गए। बिना टिकट यात्रा करने वालों से रेलवे ने 26 लाख रुपये जुर्माना वसूला । आगरा रेल मंडल के पीआरओ एसके श्रीवास्तव ने बताया कि बिना टिकट यात्रा करने वालों यात्रियों के खिलाफ लगातार चेकिंग कराई जा रही है। ट्रेनों की संख्या बढ़ने पर स्पेशल चेकिंग के आदेश भी दिए गए हैं। 

Edited By: Tanu Gupta