आगरा, जागरण संवाददाता। 15वीं पीएसी बटालियन के आला अफसरों को रहनकलां टोल प्लाजा के पास की जमीन रास आ गई है। एडीए की 7.4 हेक्टेअर जमीन है। हालांकि पीएसी को कुल दस हेक्टेअर के आसपास जमीन चाहिए जिसमें डेढ़ से दो हेक्टेअर जमीन पर पीएसी ग्राउंड बनाया जाएगा। बाकी जमीन पर प्रशासनिक भवन, आवासीय भवनों का निर्माण होगा। एडीजी पीएसी वीके सिंह ने अपनी रिपोर्ट शासन को भेज दी है। प्रशासन को इसकी जानकारी दी गई है। अब शासन को जमीन के हस्तांतरण को लेकर निर्णय लेना है। जमीन की कीमत करोड़ों रुपये में है। जिसका प्रस्ताव तैयार होगा। पीएसी को यह जमीन फ्री में दी जाएगी या फिर रियायत दरों पर। क्योंकि जमीन खरीद का कार्य उप्र मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (यूपीएमआरसी) द्वारा होगा। शहर में आगरा मेट्रो की लंबाई तीस किमी है। सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक पहला कॉरिडोर होगा। पहला डिपो पीएसी ग्राउंड में बनेगा। साथ ही समीप ही मेट्रो स्टेशन भी होगा। इसके लिए पीएसी, कमिश्नरी व उसके आसपास की जमीन ली जाएगी। कमिश्नरी में तीन हेक्टेअर जमीन का अधिग्रहण होगा, जबकि पीएसी की सात हेक्टेअर जमीन ली जाएगी। पीएसी के लिए जमीन की तलाश की जा रही है। विधि विज्ञान प्रयोगशाला की जमीन को देखा गया लेकिन अब इस प्रस्ताव को ड्रॉप किया जा रहा है। क्योंकि प्रयोगशाला का विस्तारीकरण होने जा रहा है। इससे पीएसी को जमीन नहीं मिल पाएगी। पिछले सप्ताह एडीजी पीएसी वीके सिंह आगरा आए थे। एडीजी पीएसी, आइजी पीएसी अमित कुमार, मेट्रो और स्थानीय प्रशासन के अफसरों ने रहनकलां, महुआखेड़ा, रायपुर की जमीन का निरीक्षण किया था। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021