आगरा, तनु गुप्‍ता। पहले 21 दिन और अब 14 दिन। कोरोना वायरस महामारी के कारण करीब करीब पूरी दुनिया ही लॉकडाउन के समय को आगे बढ़ा चुकी है। ऐसे में उन स्‍टूडेंट्स के लिए मुश्किल है जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहेे थे। न कॉलेज, न कोचिंग और न ग्रुप स्‍टडी। बस घर और हाथ में मोबाइल या लैपटॉप। जी हां, यदि लॉकडाउन की बंदिश को मौका समझ लिया जाए तो पढ़ाई का इससे बेहतरीन मौका कुछ और हाेे नहीं सकता। न घर में किसी बाहरी व्‍यक्ति की आवाजाही और न ही घर के काम के लिए कोई बाजार जाने का झंझट। बस आप और आपकी पढ़ाई। आइआइटी प्रोफेसर कुशल गुप्‍ता के अनुसार लॉकडाउन के समय जब सबकुछ थम गया है तो ऐसे में स्टूडेंट्स के पास यह अच्छा मौका है अपनी स्किल्स को रिकवर करने का। कुशल ने कुछ टिप्‍स भी स्‍टूडेंट्स के साथ साझा किये ताकि बिना बोर हुए अपने स्किल्‍स को रिकवर कर सकें।

ऑनलाइन कोर्सेस का सहारा लें

लॉकडाउन में जब स्टूडेंट्स और टीचर्स के बीच दूरियां बढ़ी है तो इंटरनेट ने काफी साथ दिया है। टीचर्स को सलाह दी गई है कि वो वीडियो कॉन्फ्रेेसिंग के जरिए छात्रों से जुड़े रहें और उनकी मदद करें। लेकिन ऐसे में हो सकता है छात्रों को टीचर्स से इतना सहयोग न मिल पाए तो वो ऑनलाइन एजुकेशनल एप्स जैसे बाईजूज लर्निंग एप, अनअकैडमी, यूट्यूब चैनल्स या साइट्स का सहारा ले सकते हैं।

मानव संसाधन मंत्रालय कर रहा मदद

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, यूजीसी ने अपने समय का सदुपयोग करने के लिए छात्रों और शिक्षकों के लिए दस ऑनलाइन शिक्षण पाठ्यक्रम जारी किए हैं। एमएचआरडी, यूजीसी और इसके अंतर- विश्वविद्यालय केंद्रों (आईयूसी) की अन्य पहलों के साथ - सूचना और पुस्तकालय नेटवर्क (इनफ्लिबनेट) और कंसोर्टियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशन (सीईसी) ने अपने ऑनलाइन पाठ्यक्रम जारी किए हैं। ये चैनल हैं SWAYAM, e-PG Pathshala, National Digital Library। इन सभी पोर्टल पर ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज की डिजिटल सामग्री उपलब्ध है। इस पोर्टल पर यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त कई कोर्स मिल जाएंगे।

अपनी कमजोर स्किल्स को करें रिकवर

इस लॉकडाउन में छात्रों के पास समय ही समय है जरूरत है इस समय का सदुपयोग करने की। ऐसे में छात्र अपने ऐसे पहलुओं पर ध्यान दे सकते जो उन्हें कमजोर लगते हों। जैसे छात्र ऐसी किसी भाषा पर अपनी पकड़ को इस दौरान मजबूत कर सकते हैं जिसमें वो अपने आपको कमजोर समझते हों। या फिर जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं वो अपनी मैैथ्स, इंगलिश, रीजनिंग, करंट अफेयर्स आदी विषयों पर अपनी पकड़ को मजबूत कर सकते हैं।

विषय से हटकर पढ़ने का मौका

स्कूल या कॉलेज में पढ़ रहे स्टूडेंट्स पर सिलेबस को पूरा करने का ही बोझ इतना होता है कि वो बाकी विषय के बारे में जान ही नहीं पाते। ऐसे में ये लॉकडाउन छात्रों को उनके विषय से हटकर पढ़ने का भी मौका दे रहा है। छात्रों को चाहिए कि वो समय का सदुपयोग करें और किसी ऐसे विषय के बारे में पढ़ें जिनसे अब तक वो अछूते रहे हों। जैसे किसी ऐसे साहित्यकार या शख्‍सियत के बारे में जाने जो आपके कोर्स में न हो। ऐसे ही कोई नई भाषा को सीखने का विचार बनाएं या कोई कहानी कविता की किताब पढ़ें।  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप