आगरा, जागरण संवाददाता। मंगलवार को हरीपर्वत थाने में हंगामे का माहौल बना रहा। डिप्‍टी सीएम को काले झंडे दिखाने के मामले में नामजद किये गए एनएसयूआइ के कार्यकर्ता गिरफ्तारी देने के लिए थाने पहुंच गए। उनके साथ कांग्रेस के स्‍थानीय नेता भी मौजूद थे। पुलिस ने सभी के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया हुआ था। इनकी तलाश में लगातार दबिश दे रही थी।

मंगलवार दोपहर हरीपर्वत थाने पर गिरफ्तारी देने पहुंचे एनएसयूआई के कार्यकर्ता अपूर्व शर्मा, आशीष कुमार, सतीश सिकरवार, अंकुश गौतम, ललित त्यागी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले सभी कार्यकर्ताओं ने दीवानी चौराहे पर भारत माता की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। वहां से हरीपर्वत थाने आकर नारेबाजी करते हुए गिरफ्तारी दी। एनएसयूआई पदाधिकारियो की गिरफ्तारी के विरोध में थाने पहुंचे कांग्रसियों ने प्रदर्शन और नारेबाजी की। मामलेे में एक छात्र नेता गौरव शर्मा पहले ही जेल में है। उससे मिलने के लिए सोमवार को कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू जिला जेल गए थे।

बता दें कि शुक्रवार को आंबेडकर विवि के दीक्षा समारोह में आए डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा के काफिले को एनएसयूआइ और सपा छात्र सभा के पदाधिकारियों ने काले झंडे दिखाए थे। इस मामले में पुलिस ने नौ छात्र नेताओं के खिलाफ गंभीर धाराओं मुकदमा दर्ज हुआ था। इसमें अज्ञात मीडियाकर्मी भी शामिल हैं। पुलिस ने मौके से एनएसयूआइ के गौरव शर्मा को गिरफ्तार कर लिया था। शनिवार को गौरव को कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने जेल भेज दिया गया था। 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप