आगरा, जागरण संवाददाता। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2021 के लिए ग्राम पंचायतों के साथ पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत के वार्डेां के परिसीमन का काम पूरा हो चुका है। फिलहाल आरक्षण निर्धारण की कवायद चल रही है। इस बार ग्राम प्रधान ही नहीं, ग्राम पंचायत सदस्यों के वार्ड भी कम हुए हैं।

नये परिसीमन के बाद जिले में 9,180 ग्राम पंचायत सदस्यों के वार्ड रह गए हैं। परिसीमन से पहले जिले में 9,253 वार्ड थे। यानि इस बार 73 ग्राम पंचायत सदस्य कम होंगे। वर्ष 2015 के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान जिले में 1,579 ग्राम पंचायत सदस्यों के पद रिक्त रह गए थे। इन पदों पर कोई प्रत्याशी ही खड़ा नहीं हुआ था। जबकि 9,253 में से 6,589 प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए थे। सिर्फ 1,085 वार्डों पर ही मतदान की नौबत आई थी। बीते चुनाव में सिर्फ पांच ग्राम प्रधान निर्विरोध चुने गए थे। बता दें कि 2015 में जिले में 695 ग्राम पंचायतें थीं, जबकि नये परिसीमन में इनकी संख्या घटकर 690 रह गई है। पांच ग्राम प्रधान के वार्ड कम होने से दावेदार परेशान हैं। हालांकि ग्राम पंचायत सदस्यों की संख्या होने से दावेदारों पर ज्यादा फर्क नहीं पड़ा है। क्योंकि इस पद के चुनाव के लिए कम ही दावेदार होते हैं। हालांकि अन्य पदों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे दावेदार अभी से सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने प्रचार-प्रसार भी शुरू कर दिया है। गली-गली होर्डिंग बैनर लगा दिए हैं। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021