आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा फुटवियर मैन्यूफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्टर्स चैंबर (एफमेक) द्वारा सींगना स्थित आगरा ट्रेड सेंटर में जिला प्रशासन के सहयोग से कोरोना संक्रमितों के उपचार को अस्पताल खोलने को तैयारियां की जा रही हैं। सेना अस्पताल की तरह बनाए जा रहे अस्पताल में 300 बेड रहेंगे, बाद में इसकी क्षमता बढ़ाकर 500 बेड की जाएगी। अस्पताल की शुरुआत जीवन से जुड़ी व्यवस्थाओं व तैयारियों के पूरा होने के बाद ही की जाएगी।

आगरा ट्रेड सेंटर में बनाए जा रहे अस्थायी अस्पताल में बेड लगा दिए गए हैं। डीएम प्रभु एन. सिंह और सेना का प्रतिनिधिमंडल यहां निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देख चुके हैं। यहां एल-वन श्रेणी के काेविड संक्रमितों जिनका आक्सीजन लेवल 88 से 92 होगा उन्हें उपचार के लिए भर्ती किया जाएगा। डाक्टर द्वारा दिए गए पर्चे के आधार पर ही उनका उपचार होगा और वो उन्हीं के निर्देशन में रहेंगे। एफमेक के रूबी सहगल, अजीत राणा, राजीव वासन, सुनील वासन व्यवस्थाओं में जुटे हुए हैं। वहीं, डा. शम्मी कालरा, डा. बीके सिंह, अरुण चतुर्वेदी, डा. अरविंद अग्रवाल, डा. रणवीर सिंह, डा. सचिन, डा. शशिकांत समेत अन्य ने टेली मेडिसिन सेवाओं का आश्वासन दिया है।

एफमेक अध्यक्ष पूरन डावर ने बताया कि बताया कि आगरा ट्रेड सेंटर में कोविड संक्रमितों के उपचार की समस्त व्यवस्थाएं पूरी होने के बाद शीघ्रातिशीघ्र अस्पताल की शुरुआत की जाएगी। यहां कोविड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से संक्रमितों को उपचार के लिए भर्ती किया जाएगा।

कंसंट्रेटर आने में हुआ विलंब

एफमेक द्वारा आक्सीजन कंसंट्रेटर आयात किए जा रहे हैं। फ्लाइट में विलंब के चलते कंसंट्रेटर उपलब्ध नहीं हो सके हैं। यहां 50 बेड के लिए आक्सीजन की लाइन डलवाई गई है। जिला प्रशासन द्वारा पांच आक्सीजन सिलिंडर संस्था को उपलब्ध कराए गए हैं, जबकि 20 सिलिंडर दिल्ली से मंगाए गए हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप