आगरा: फतेहपुर सीकरी के जाजऊ में रविवार को फौजी और उसके भाई की हत्या के आरोपित होमगार्ड की मां के मौत की गुत्थी उलझ गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में वृद्धा के शरीर पर चोटें बताई गई हैं। मगर, वह इतनी गंभीर नहीं जिससे वृद्धा की मौत हो जाती। डॉक्टरों ने मृतका का बिसरा सुरक्षित रखा है। उसे जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा जाएगा। उधर, गांव में टकराव की आशंका पर परिजनों ने मृतका का अंतिम संस्कार कागारौल के नगला हन्नू में किया।

जाजऊ गांव में रविवार की सुबह होमगार्ड महेंद्र सिंह पक्ष और फौजी ललित सिंह में विवाद हो गया था। इसके बाद महेंद्र सिंह ने घर से लाइसेंसी राइफल लाकर ताबड़तोड़ फाय¨रग करके ललित और उसके भाई अनिल की हत्या कर दी थी। उधर, घटना के चार घंटे बाद होमगार्ड की 90 वर्षीय मां पतरी देवी की लाश पुलिस को होमगार्ड के छोटे भाई मुकेश के घर में मिली।

वारदात के बाद आरोपितों के परिवार और रिश्तेदार गांव से भाग गए। इसके चलते वृद्धा पतरी देवी का पंचनामा भरने के लिए पुलिस को रविवार को पांच आदमी नहीं मिले। गांव का कोई व्यक्ति पंचनामा में अपना नाम लिखाने को तैयार नहीं था।

सोमवार दोपहर होमगार्ड के जीजा, उनका भाई एवं समधी के अलावा दो रिश्तेदारों के पहुंचने के बाद पंचनामा भरा गया। सोमवार शाम सात बजे मृतका का पोस्टमार्टम डॉक्टरों के पैनल ने किया। शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव ले जाने पर टकराव की आशंका थी। गांव में तैनात पीएसी को सतर्क कर दिया था। मगर, मृतका के रिश्तेदार शव को कागारौल के नगला हन्नू गांव में ले गए। वहीं शव का अंतिम संस्कार किया। वृद्धा की हत्या का दोनों पक्षों ने किया था अलग-अलग दावा

वृद्धा पतरी देवी की हत्या का दोनों पक्षों ने अलग-अलग दावा किया था। पूर्व प्रधान थान सिंह का आरोप था कि होमगार्ड ने क्रास केस कराने के लिए अपनी मां की जान ले ली है। जबकि मृतका के रिश्तेदारों का आरोप है कि पूर्व प्रधान पक्ष के लोगों ने उसे लाठी-डंडों से पीट दिया था। इससे वृद्धा की मौत हो गई। होमगार्ड सहित आठ पर मुकदमा

मृतकों के पिता पूर्व प्रधान थान सिंह की ओर से आठ लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया।

पुलिस ने आरोपित होमगार्ड महेंद्र सिंह उसके भाइयों मुकेश, हाकिम सिंह एव भतीजे सचिन को देर रात गिरफ्तार कर लिया।

'पोस्टमार्टम में वृद्धा की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। उसका बिसरा सुरक्षित रखा गया है। इसे जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा जाएगा। फौजी और उसके भाई की हत्या में वांछित अन्य लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।'

डॉ. अखिलेश नारायण एसपी ग्रामीण (पश्चिम)

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप