आगरा, जागरण संवाददाता। गोवर्धन में आठ जुलाई से आरंभ हो रहे पांच दिवसीय गुरु पूर्णिमा मुड़िया मेला में गुरुवार से फोर्स सुरक्षा के मोर्चे पर तैनात हो जाएगी। मेला को सकुशल संपन्न कराने को पुख्ता के इंतजाम किए हैं। राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की तीस सदस्यीय टीम आपदा से निपटने को लगाई गई है। बुधवार को फोर्स को ब्रीफ किया जाएगा।

गिरिराज जी की सात कोस की परिक्रमा लगाने को मुड़िया पूर्णिमा पर आठ जुलाई से श्रद्धालुओं का आगमन आरंभ हो जाएगा। पांच दिवसीय मेला में सात कोस की परिक्रमा में मानव श्रृंखला बन जाएगी। यातायात व्यवस्था को सामान्य बनाए रखने के साथ ही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस की तैनाती सात जुलाई की शाम को हो जाएगी। राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, मध्यप्रदेश और दिल्ली से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने का इनपुट पुलिस का मिला है। इनके अलावा अन्य प्रांतों से भी श्रद्धालु आएंगे। लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ में अपराधी भी घुस आते हैं। अपराधियों की नकेल कसने के लिए तो चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात की जाएगी। ड्यूटी प्वाइंट तय कर दिए गए हैं। मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी लगा दी गई है। पुलिसकर्मियों के भी ड्यूटी स्थल तय कर उनकी तैनाती का कार्य हो गया है। यातायात व्यवस्था भी निर्धारित कर दी गई है। पार्किंग स्थल बन गए हैं। एसपी ग्रामीण श्रीश्चंद्र ने बताया, आपदा से निपटने के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की तैनात की गई है, जो प्राकृतिक आपदा से निपटने में सक्षम है। कुंडों पर भी टीम के सदस्यों की तैनाती की गई है। एसपी ग्रामीण ने बताया, बुधवार को फोर्स को ब्रीफ किया जाएगा।

 

Edited By: Tanu Gupta