आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में छठवीं की छात्रा के सात फेरों की तैयारी थी। घर वालों ने रिश्ता तय कर दिया था। दूल्हा 11 दिसंबर को बरात लेकर आने की तैयारी कर चुका था। छात्रा भी शादी के लिए तैयार नहीं थी। वह आगे की पढाई करना चाहती थी। किसी परिचित ने चाइल्ड लाइन को इसकी जानकारी दे दी। वह पुलिस के साथ छात्रा के घर पहुंच गई। परिवार को समझाया कि नाबालिग का विवाह करना कानूनन अपराध है। इस पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

अभी 15 वर्ष की है उम्र

छात्रा ने चाइल्ड लाइन और पुलिस को बताया कि उसकी उम्र 15 वर्ष है। परिवार ने आर्थिक स्थिति अच्छी न होने पर छठी कक्षा के बाद उसकी पढ़ाई छुड़वा दी। अब उसकी शादी सिकंदरा के रहने वाले युवक से तय कर दी। छात्रा के स्वजन ने बताया कि 11 दिसंबर को उसकी बरात आनी है। वह अागे की पढाई करना चाहती है। अपना करियर बनाना चाहती है। जिस पर पुलिस और चाइल्ड लाइन ने उन्हें कानून का हवाला दिया। लड़के वालों से भी संपर्क किया गया। उन्हें बताया गया कि नाबालिग से शादी करने पर उनके विरूद्ध भी प्राथमिकी लिखी जाएगी।

ये भी पढ़ें...

रोमांच के शौकीनों के लिए उत्‍तराखंड में नया ठिकाना, 15 दिसंबर से होगी शुरुआत, यहां लें पूरी जानकारी

छात्रा के स्वजनों ने दिया आश्वासन

चाइल्ड लाइन ने छात्रा को रेस्क्यू कर उसे बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत किया। समिति ने छात्रा के स्वजन को बुलाकर उनसे बातचीत की। जिसके बाद छात्रा को उनकी सुपुर्दगी में दिया गया। बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष मोनिका सिह ने बताया कि स्वजन और गवाहों ने लिखित में आश्वासन दिया है कि वह छात्रा के बालिग होने के बाद ही उसका विवाह करेंगे।

 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट