आगरा, जागरण संवाददाता। फुटवियर मैन्युफेक्चरर्स एंड एक्सपाेर्टर्स चेंबर (एफमेक) द्वारा आयोजित मीट एट आगरा की शुरुआत शुक्रवार से होगी। सुबह 10 बजे से शाम छह बजे तक भारत सहित 45 देशों के प्रदर्शक 225 स्टालों के माध्यम से विभिन्न उत्पादों का प्रदर्शन करेंगे। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल तीसरे पहर साढ़े चार बजे आगरा ट्रेड सेंटर, सींगना में कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे।

एक्सपाेर्ट में आगरा की 25 फीसद भागीदारी

गुरुवार को आगरा ट्रेड सेंटर, सींगना में एफमेक अध्यक्ष पूरन डावर ने कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि कोविड के कारण दो वर्ष से आयोजन नहीं हो पा रहा था। इसलिए 14वां संस्करण दो वर्ष देरी से हो रहा है। उन्होंने बताया कि जूता उद्योग कम पूंजी में ज्यादा रोजगार देने वाला है। 15 हजार करोड़ कारोबारी लक्ष्य के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं। निर्यात में आगरा की कुल भागीदारी 25 प्रतिशत है।

इंडस्ट्री लगातार हासिल कर रही ग्रोथ

वहीं घरेलू प्रोडक्शन में हम 65 प्रतिशत पर हैं। व्यापार बढ़ाने और इंडस्ट्री को समृद्ध बनाने के लिए हम कई प्रयोग कर रहे हैं। आगरा को दुनिया के जूता उद्योग की राजधानी बनाना है। अभी तक सिर्फ लेदर का ही कारोबार होता था, लेकिन अब हमनें स्पोर्टर्स जूता के क्षेत्र में भी हाथ आजमाया है। कई नामी कंपनियों ने चीन से आयात पूरी तरह बंद कर दिया है और हम घरेलू बाजार में निरंतर ग्रोथ हासिल कर रहे हैं। जूता सोल के लिए चाइना पर निर्भरता समाप्त हुई है और गुणवत्ता बढ़ानी है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में केंद्रीय राज्यमंत्री प्रो. एसपी सिंह बघेल, सांसद राजकुमार चाहर, कैबिनेट मंत्री योगेंद्र उपाध्याय मौजूद रहेंगे।

युवा नौकरी मांगने नहीं, देने वाले बनें

एफमेक कन्वीनर कैप्टन एएस राना ने बताया कि कार्यक्रम में कुल 225 स्टाल लगने हैं, जो एक महीना पहले बुक हो चुके हैं। आगामी आयोजन में और अधिक विस्तार दिया जाएगा। कारण हमें तेजी से ग्रोथ मिल रही है। अपनी पकड़ को और मजबूत करने के लिए हमें गुणवत्ता को बढ़ाना होगा। आयोजन में जूता कारोबारी, विभिन्न संस्थानों के छात्र नई तकनीक से रूबरू होंगे। इसका उद्देश्य है कि युवा नौकरी मांगने नहीं देने वाले बने।

तकनीकी सत्र में सिखाया जाएगा रिस्क मैनेजमेंट

एफमेक पदाधिकारियों ने बताया कि तकनीकी सत्र के माध्यम से व्यापारियों और छात्रों को रिस्क मैनेजमेंट के बारे में सिखाया जाएगा। इसका उद्देश्य है कि नुकसान के प्रति लोग सजग रहें और आशंका से भयभीत न हों।

ये रहे मौजूद

एफमेक सचिव ललित अरोड़ा, कार्यकारिणी सदस्य प्रदीप वासन, सुधीर गुप्ता, राजीव वासन, कुलदीप सिंह, सुनील मनचंदा, गिरीश लूथरा, जितेंद्र त्रिलोकानी आदि मौजूद थे। 

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट