आगरा, जेएनएन। पैसे लेकर शादी करवाने वाले गिरोह के चंगुल में फंसे अधेड़ ने आरोपित महिला को पुलिस के हवाले कर दिया। पीडि़त के अनुसार सागर व फीरोजपुर झिरका की दो महिलाओं ने पैसे लेकर शादी करवाने का झांसा देकर दो बच्चों की मां और बिना तलाक शुदा महिला से उसकी शादी करवा दी। शादी के बाद जब महिला भागने के प्रयास में थी, तो उसे इसकी जानकारी हो गई। पीडि़त ने आरोपित महिला पुलिस के हवाले कर दी। पुलिस गिरोह की दोनों महिलाओं की तलाश में जुटी है।

वृंदावन के कोतवाली क्षेत्र के इस्कॉन मंदिर के समीप स्थित गोशाला में करीब 22 साल से सेवा कर रहे रामसकल गुर्जर ने बताया कि उसके हरियाणा स्थित फीरोजपुर झिरका निवासी रिश्तेदार शीला की मित्र राधा मध्य प्रदेश के सागर में रहती है और पैसे लेकर शादी करवाती है। राधा ने बताया की मौसी की लड़की है, वह उसके साथ शादी करवा देगी। रामसकल ने लड़की को देखने के लिए छटीकरा बुलाया। शीला और राधा 30 जून को संध्या नामक युवती को लेकर पहुंचे। संध्या से शादी तय हो गई। एक जुलाई को कचहरी में अधिवक्ता के सामने स्टाम्प पर हस्ताक्षर करवाकर बोल दिया शादी हो गई। हस्ताक्षर से पहले राधा ने रामसकल से एक लाख रुपये ले लिए।

शादी के दूसरे दिन सुबह चार बजे जब रामसकल गायों को चारा देने उठा तो सेलफोन पर उसे संध्या की आवाज सुनाई दी, जो किसी से रात में उसे अपने साथ ले जाने की गुजारिश कर रही थी। रामसकल के पूछने पर संध्या ने बात घुमा दी। दूसरे दिन रामसकल के मोबाइल पर फोन आया, कॉल करने वाले व्यक्ति ने संध्या के बारे में पूछा और कहा उसके बच्चे रो रहे हैं। बताया वह उसका पति हैं, संध्या के दो बेटे हैं एक चार साल, एक ढाई साल का। रामसकल ने पड़ोसियों से विचार के बाद महिला को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है। कोतवाली प्रभारी संजीव कुमार दुबे के अनुसार आरोपित महिलाओं को तलाश कर गिरोह का पर्दाफाश करने की कोशिश की जा रही है।

 

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप