आगरा, जागरण संवाददाता। डिप्टी सीएम के काफिले को काले झंडे दिखाने में छात्र नेता को जेल भेज दिया गया। अब नामजद अन्य छात्र नेताओं की तलाश है। इनमें अज्ञात मीडियाकर्मी भी शामिल है।

आंबेडकर विवि के दीक्षा समारोह में आए डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा के काफिले को एनएसयूआइ और सपा छात्र सभा के पदाधिकारियों ने काले झंडे दिखाए थे। इस मामले में पुलिस ने नौ छात्र नेताओं के खिलाफ गंभीर धाराओं मुकदमा दर्ज हुआ था। इसमें अज्ञात मीडियाकर्मी भी शामिल हैं। पुलिस ने एनएसयूआइ के गौरव शर्मा को गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को गौरव को कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने जेल भेज दिया। इंस्पेक्टर हरीपर्वत अजय कौशल ने बताया कि मुकदमे में नामजद आरोपितों की तलाश में दबिश दी गई। वे अभी अपने घरों से फरार हैं। बता दें कि धारा 332,353,120 बी, 504,506 जैसी गंभीर धाराओं में हरीपर्वत थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

बता दें कि शुक्रवार को खंदारी परिसर में हुए डॉ बीआर आंबेडकर विश्‍वविद्यलय के दीक्षा समारोह की अध्‍यक्षता राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने की थी और मुख्‍य अतिथि डिप्‍टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा थे। एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने पहले ही राज्यपाल के काफिले को काले झंडे दिखाने का एलान किया हुआ था। पुलिस एलान करने वाले छात्र नेताओं को रोकने में कामयाब नहीं रही थी। वे रूट पर काले झंडे लेकर पहले से खड़े हो गए थे। उप मुख्यमंत्री का काफिला आते ही सड़क पर आ गए। इससे पूर्व गुरुवार रात में ललित कला संस्थान की दीवार पर राज्यपाल वापस जाओ लिख दिया था। इसके बाद भी पुलिस छात्रनेताओं तक पहुंचने में फेल हो गई। शुक्रवार को सपा छात्र सभा और एनएसयूआइ के पदाधिकारी मास्टर प्लान रोड पर राज्यपाल को काले झंडे दिखाने के लिए खड़े हो गए। समारोह के समापन के बाद खंदारी परिसर से उप मुख्यमंत्री का काफिला निकला, छात्र नेताओं ने इसे राज्यपाल का काफिला समझा। वे काफिले के सामने आ गए, काले झंडे दिखाने लगे, काफिले में साथ चल रहे पुलिस कर्मियों ने छात्र नेताओं को नहीं रोका। काले झंडे दिखाने के बाद छात्र नेता खाली मैदान में होते हुए भाग निकले।

 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप