आगरा, जागरण संवाददाता। भांगड़ा, गिद्दा, रेवड़ी, मूंगफली, पॉपकॉर्न, खुशी, उत्साह, धमाल और मस्ती से सजी लोहड़ी। सोमवार को लोहड़ी का त्योहार कई घरों में मनाया गया। बच्चों और नव युगलों की पहली लोहड़ी की खुशी में घरों, होटलों और रेस्टोरेंटों में देर रात तक डांस और मस्ती का माहौल रहा। अगले साल फिर से खुशियों की अरदास के साथ लोहड़ी को विदा किया गया।

पंजाबियों और सिखों के लोहड़ी का खास महत्व होता है। शहर के कई घरों में पहली लोहड़ी का कार्यक्रम धूमधाम से मनाया गया। पहली लोहड़ी के साथ ही 25वीं लोहड़ी का सेलीब्रेशन भी किया गया। सेक्टर सात निवासी जगदीश बत्रा की 25वीं लोहड़ी का फंक्शन परिवार वालों ने पूरे उत्साह के साथ मनाया। इसी तरह शेखर रेजीडेंसी निवासी ज्योति आहूजा के पोते कबीर सिंह की पहली लोहड़ी का फंक्शन क्रॉस रोड मॉल स्थित जायका रेस्टोरेंट में धूमधाम से मनाया गया।

पूरा दिन हुई मूंगफली और पॉपकॉर्न की खरीददारी

लोहड़ी के शगुन के लिए मूंगफली,पॉपकॉर्न, रेवड़ी की खरीददारी पूरा दिन बाजारों में होती रही। मदिया कटरा स्थित दुकान पर सुबह से शाम तक भीड़ लगी रही। मूंगफली जहां 120 रुपये किलो बिकी, वहीं पॉपकॉर्न का रेट 80 रुपये किलो रहा। गुड़ की रेवड़ी 200 रुपये किलो और गजक 250 रुपये किलो बिकी।

खूब गूंजा दुल्ला भट्टी वाला गीत

बेशक डीजे पर बॉलीवुड के सांग्‍स पर झूमने का जमाना है लेकिन लोहड़ी के वक्‍त परंपरागत गीत भी हर जगह सुनाई दिया। ढोल पर हल्‍की थाप के बीच महिलाओं ने दुल्‍ला भट्टी वाला गीत गाया-

'सुंदर मुंदरिये हो, तेरा कौन विचारा हो,

दुल्ला भट्ठी वाला हो, दुल्ले दी धी व्याही हो,

सेर शक्कर पाई हो, कुड़ी दे जेबे पाई हो,

कुड़ी दा लाल पटाका हो, कुड़ी दा सालू पाटा हो,

सालू कौन समेटे हो, चाचे चूरी कुट्टी हो,

जमीदारां लुट्टी हो, जमीदारां सदाए हो,

गिन-गिन पोले लाए हो, इक पोला घट गया,

ज़मींदार वोहटी ले के नस गया, इक पोला होर आया,

ज़मींदार वोहटी ले के दौड़ आया,

सिपाही फेर के लै गया, सिपाही नूं मारी इट्ट, भावें रो ते भावें पिट्ट,

साहनूं दे लोहड़ी, तेरी जीवे जोड़ी'

बताया जाता है कि इस गीत को गाने के पीछे मान्यता है कि महाराजा अकबर के शासन काल में दुल्ला भट्टी एक लुटेरा था लेकिन वह हिंदू लड़कियों को गुलाम के तौर पर बेचे जाने का विरोधी था। उन्हें बचा कर वह उनकी हिंदू लड़कों से शादी करा देता था। गीतों के माध्यम से उसके प्रति आभार व्यक्त किया जाता है।

 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस