आगरा, जागरण संवाददाता। विश्व ¨हदू परिषद की नौ दिसंबर को दिल्ली में होने वाली धर्मसभा को लेकर शनिवार को दिन भर जिले में तैयारी होती रही। देर रात बसों से हजारों राम भक्त शंखनाद और भगवान राम के जयघोष के बीच दिल्ली के लिए रवाना हुए।

विहिप की धर्मसभा में ताजनगरी से हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं को दिल्ली ले जाने के लिए कई दिनों से तैयारी चल रही थी। इसके लिए बसों का व्यापक इंतजाम किया जा रहा था। विहिप पदाधिकारियों ने नौ सौ बसें दिल्ली ले जाने का दावा किया था, लेकिन शाम तक बसों की व्यवस्था बाधित करती रही। पूरे जिले की बसों को कोठी मीना बाजार बुलाया गया था। दिन भर बसें आती रहीं। रात आठ बजे तक महज ढाई सौ बसें ही कोठी मीना बाजार पहुंच सकीं। रात तक दूर-दराज के क्षेत्रों से आए कार्यकर्ता बसों को लेकर अपने क्षेत्रों के लिए रवाना हो गए। हालांकि देर रात तक करीब साढ़े छह सौ बसें आने का दावा किया जाता रहा। रात दस बजे अपने-अपने इलाके से शंखनाद और जयकारों के बीच कार्यकर्ता दिल्ली के लिए रवाना हुए। पूरे जिले से कार्यकर्ताओं को लेकर बसें खंदौली बाइपास पहुंची। यहां बनाए गए विहिप के कैंप कार्यालय में एक-एक बस की एंट्री हुई। यहां से आधी रात के बाद बसों से कार्यकर्ता दिल्ली के लिए कूच कर गए। बसों के लिए मची मारामारी

विहिप धर्मसभा के लिए काफी दिनों से तैयारी कर रही थी। इसके लिए प्राइवेट बस मालिकों से संपर्क किया गया। स्कूल, फैक्ट्रियों और व अन्य स्त्रोतों से बसों का इंतजाम किया गया। दावा किया गया था कि करीब नौ सौ बसें दिल्ली ले जाई जाएंगी। लेकिन ये दावे हवा हो गए। देर रात तक बसों का आवागमन होता रहा। ऐसे में पदाधिकारियों की सांसें फूल गईं। बसों की कमी के चलते जिन बसों से कार्यकर्ता रवाना हुए, वे दिल्ली के लिए पूरी तरह से फुल होकर रवाना हुईं। क्षमता से अधिक कार्यकर्ता बसों में बैठे।

विहिप के प्रांत उपाध्यक्ष सुनील पाराशर ने बताया कि रात आठ बजे तक ढाई सौ बसें आ गई थीं। करीब छह सौ बसें आ जाएंगी। कार्यकर्ताओं की संख्या काफी हो गई है। दिल्ली को ट्रेनें भी गईं फुल

बसों में भीड़-भाड़ को देखते हुए बड़ी संख्या में कार्यकर्ता दिल्ली के लिए दिन में ही ट्रेनों से रवाना हो गए। दिल्ली जाने वाली अधिकांश ट्रेनों में कार्यकर्ताओं की भीड़ रही। हर कार्यकर्ता का हिसाब

जिस बस से कितने कार्यकर्ता गए हैं, उनका हिसाब विहिप ने रखा। हर कार्यकर्ता का नाम, पिता का नाम, पता और मोबाइल नंबर की सूची उस बस में चिपका दी गई। ताकि आवागमन में उनको दिक्कत न होने पाए। खंदौली बाइपास पर प्रत्येक बस को एंट्री के बाद ही आगे रवाना किया गया।

आज रहेगी बसों की दिक्कत

धर्मसभा में ज्यादातर प्राइवेट बसें दिल्ली जाने के कारण जिले के रूटों पर बसों की किल्लत रहेगी। हालांकि स्कूलों में रविवार को अवकाश के कारण कोई परेशानी नहीं होगी।

Posted By: Jagran