आगरा, जेएनएन। आगरा मंडल में रविवार सुबह अचानक आए मौसम में बदलाव और तेज गड़गड़ाहट के साथ आकाशीय बिजली ने नुकसान पहुंचाया है। मथुरा के थाना मगोर्रा क्षेत्र के गांव पाली डूंगरा में खेत पर काम कर रहे चार महिलाओं समेत पांच मजदूरों की आकाशीय बिजली के कंपन से हालात बिगड़ गई। रविवार को हुई बेमौसम वर्षा से बचने को सभी मजदूर एक पेड़ के नीचे बैठे थे। उनके पास ही आकाशीय बिजली गिरी। सभी को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब उनकी हालत सामान्य बताई जा रही है।

कस्बा सौंख से रविवार को चार महिला मजदूर फूला देवी, चंदा, रज्जो, रचना,एक किशोरी बीना धान की कटाई करने के लिए गए थे। किसान हरिओम निवासी पाली डूंगरा भी अपने खेत पर मजदूरों के साथ ही कार्य कर रहे थे। अचानक काले बादल मंडराने लगे और तेज हवा के साथ बारिश होने लगी। बारिश से बचने को वे एक पेड़ के नीचे बैठ गए। तभी आकाशीय बिजली पेड़ के पास गिरी। आकाशीय बिजली के कंपन का जोरदार झटका मजदूरों को झटका लगा। वे वहीं गिर गए। इससे खेतों पर काम कर रहे दूसरे मजदूरों और किसानों में अफरा तफरी मच गई। सभी को गांव पाली डूंगरा स्थित केएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आकाशीय बिजली के प्रभाव में आए किसान हरिओम के भाई चंद्रपाल ने बताया, आकाशीय बिजली के प्रभाव में आ जाने से सबकी तबीयत खराब हो गई थी, अब खतरे की कोई बात नहीं है।

वहीं आगरा-मथुरा हाईवे पर अरतौनी इलाके में भी आकाशीय बिजली गिरी है। इससे एक दो मंजिला मकान में दरार आ गई है। साथ ही घर में लगे सभी बिजली उपकरण फुंक गए हैं। सदमे से महिला की हालत खराब हुई है। आगरा के आसपास सभी गांवों में रुक-रुक बारिश हो रही है। इससे आलू और सरसों की फसल को भी नुकसान पहुंचने की आशंका है।

 

Edited By: Prateek Gupta