आगरा, जागरण संवाददाता। टी-20 विश्व कप क्रिकेट मैच में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के आरोपित तीनों कश्मीरी छात्रों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई है, जिसके बाद तीनों को अलग बैरक में शिफ्ट कर दिया गया। सुरक्षा के मद्देनजर बैरक में तीन नंबरदार भी रखे गए हैं। वहीं, बैरक के बाहर भी अतिरिक्त बंदी रक्षक तैनात किए गए है।

कश्मीरी छात्रों के खिलाफ 26 अक्टूबर को जगदीशपुरा थाने में साइबर अातंकवाद समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने विवेचना में राष्ट्रद्रोह की धारा बढ़ाते हुए उन्हें 28 अक्टूबर को जेल भेजा था। जेल प्रशासन ने कश्मीरी छात्रों को सुरक्षा के मद्देनजर अलग बैरक में रखने का निर्णय किया था। उनकी कोरोना जांच के लिए आरटीपीसीआर कराई थी। तीनों छात्रों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जेल अधीक्षक पीडी सलोनिया ने बताया कि कश्मीरी छात्रों को सुरक्षा की दृष्टि से अन्य बंदियों से अलग बैरक में रखा गया है। बैरक में उनके साथ तीन नंबरदार भी रहेंगे। वहीं, बैरक के बाहर भी अतिरिक्त बंदी रक्षक तैनात किए हैं।

जेलों में 950 बंदियों की कोरोना जांच

केंद्रीय और जिला कारागार में 950 बंदियों की आरटीपीसीआर जांच कराई गई। इसमें 750 बंदियों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि 200 बंदियों की रिपोर्ट आनी बाकी है। केंद्रीय कारागार में भी जिन 54 कश्मीरी बंदियों की आरटीपीसीआर जांच कराई गई थी। उनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आई है।

Edited By: Nirlosh Kumar