आगरा, जेएनएन। पानी गांव डाहरुआ मार्ग पर गुरुवार की रात को की गई बिजली विभाग के जेई प्रदीप कुमार की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। लूट के मकसद से जेई की हत्या की गई थी। पुलिस ने एक शातिर को दबोच लिया है लेकिन उसका दूसरा साथी फरार है।

मथुरा के पानी गांव फीडर पर तैनात जेई प्रदीप कुमार की गुरुवार की रात को हत्या कर दी गई थी। इस घटना से प्रदेश भर में खलबली मच गई थी। तीन एएसपी और पंद्रह टीम हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिए लगाई गई थी। पुलिस ने इस मामले में पानी गांव निवासी किशनु को पकड़ा है। डबल बैरल का तमंचा भी बरामद कर लिया है। किशनु एक शातिर अपराधी है। पहले भी वह मथुरा और डीग में मर्डर कर चुका है। सुपारी किलर है। नोएडा में ओला में गाड़ी चलता है और वारदात कर भाग जाता है। वह आठ जनवरी को मथुरा आया और उसके बाद गोवर्धन के देवसेरस गांव गया। वहां से उसने हथियार खरीदा और डीग राजस्थान चला गया। घटना से पहले शातिर ने अपना मोबाइल बंद कर लिया। उसके दो घन्टे के बाद वारदात की। लूट के लिये तमंचा दिखाते समय जेई ने विरोध किया। तभी उसने गोली मार दी। मगर लूट करने का मौका नही मिल सका और आरोपित वहां से भाग निकला। हत्‍याकांड को लेकर उत्‍तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन में आक्रोश व्‍याप्‍त है। विद्युतकर्मी हत्‍या के दूसरे दिन से ही कार्य बहिष्‍कार कर धरना दे रहे हैं। मामले की सं‍जीदगी के चलते मंगलवार को एडीजी अजय आनंद और आइजी ए सतीश गणेश पकड़ते गए चार शातिरों से पूछताछ के लिए मथुरा गए थे। पुलिस विगत दो दिन से हत्‍याकांड की गुत्‍थी जल्‍द सुलझाने का दावा कर रही थी। शाम पांच बजे मामले का पूरा खुलासा करने के लिए पुलिस ने प्रेसवार्ता रखी है।  

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस