आगरा, जेएनएन। चार साल से मैनपुरी जिला कारागार में बंद विधायक हत्याकांड के आरोपित संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा को लखनऊ जेल भेजने की तैयारी पूरी कर ली गई है। सारी तैयारी गोपनीय ढंग से चल रही है। हालांकि, जेल अधिकारी जीवा की जेल बदले जाने को लेकर अनभिज्ञता जता रहे हैं। 

संजीव उर्फ जीवा को वर्ष 2015 में नैनी जेल से मैनपुरी जेल के लिए प्रशासनिक आधार पर स्थानांतरित किया था, तभी से वह जिला कारागार में निरुद्ध है। उसके खिलाफ विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड के अलावा कई मामले अलग-अलग अदालतों में विचाराधीन हैं। मुकदमों में सुनवाई के लिए उसे सुरक्षित ढंग से संबंधित अदालतों में पहुंचाया जाता रहा है।

जीवा के साथी मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या के बाद जीवा की सुरक्षा और बढ़ा दी गई थी। मैनपुरी जेल में उसे अलग बैरक में रखा गया था। बैरक के बाहर विशेष सुरक्षा तंत्र तैनात किया गया था। उसे खिलाने से पहले खाने की भी जांच की जा रही थी। वहीं मैनपुरी जेल में जीवा को अतिरिक्त सुविधाएं मिलने की चर्चा होती रही है।

दो वर्ष पूर्व जेल में अधिकारियों ने अचानक निरीक्षण किया तो जीवा के पास से 20 हजार की नकदी बरामद हुई थी। हालांकि, इस मामले को दबा दिया गया था। जेल अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई थी। अब जीवा को मैनपुरी जेल से लखनऊ जेल स्थानांतरित करने का प्रशासनिक आदेश जारी किया गया है।

जेल सूत्रों की माने तो जीवा को स्थानांतरित करने के प्रशासनिक आदेश की जानकारी जेल अधिकारियों को मिल चुकी है। उसे सुरक्षित ढंग से लखनऊ जेल पहुंचाने की तैयारियां भी कर ली गई हैं। वहीं जेल अधिकारी इस प्रकार के आदेश की जानकारी होने से इन्कार कर रहे हैं। जेलर विनय कुमार द्विवेदी ने बताया कि जीवा को स्थानांतरित करने का कोई आदेश नहीं मिला है। आदेश मिलने पर पालन किया जाएगा।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस