आगरा, जागरण संवाददाता। एत्माद्दौला थाने में तैनात दारोगा रामचंद्र राठौर शनिवार दोपहर हादसे का शिकार हो गए। हाईवे की सर्विस लेन पर ट्रक ने उन्हें चपेट में ले लिया। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।

औरैया के विधूना निवासी रामचंद्र राठौर वर्ष 1984 में पुलिस कांस्टेबल पद पर भर्ती हुए थे। वर्ष 2016 में सब इंस्पेक्टर बने। उनका परिवार अलीगढ़ के क्वार्सी थाना क्षेत्र में एटा चुंगी के पास रहता है। 24 नवंबर 2020 को एत्माद्दौला थाने में तैनाती हुई थी। इसके बाद से मंडी समिति चौकी पर तैनात थे। शनिवार दोपहर 12 बजे रामचंद्र अपनी बाइक से हाईवे की सर्विस लेन पर शाहदरा चौराहे से आगे की ओर जा रहे थे। बारिश के कारण रास्ते में पानी भरा था। यहां उनकी बाइक फिसल गई और वे रोड पर गिर पड़े। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया उनके गिरते ही पीछे से एक ट्रक आ गया। ट्रक के पहिए उनके पैरों पर होकर निकल गए। इसके बाद वे अचेत हो गए। स्थानीय लोगों ने यूपी 112 पर काल करके सूचना दी। इसके बाद पीआरवी मौके पर पहुंची। पुलिसकर्मी पीआरवी से ही उन्हें गोयल सिटी हास्पिटल ले गए और भर्ती करा दिया। यहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। रामचंद्र के भाई श्यामसुंदर ने एत्माद्दौला में ट्रक चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। श्यामसुंदर भी सब इंस्पेक्टर हैं। वे आगरा पुलिस लाइन में तैनात हैं। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद शनिवार शाम को स्वजन दारोगा का शव लेकर अलीगढ़ चले गए। उनके साथ पुलिस की गारद भी भेजी गई है। एमडी कर रही है बेटी बेटा बीएसएफ में असिस्टेंट कमांडेंट

दारोगा रामचंद्र की बेटी ज्योति दिल्ली में एम्स से एमडी कर रही है। वहीं बेटा बीएसएफ में असिस्टेंट कमांडेंट है। बेटा जम्मू में तैनात है। छोटा बेटा आकाश अभी बीएससी में पढ़ रहा है।

Edited By: Jagran