आगरा, जेएनएन। जम्मू कश्मीर में चल रहे डर माहौल के बीच वहां पढ़ रहे दिव्यांग बच्चों के लिए एक संस्था उनके डर को खत्म करने के लिए पहल कर रही है। इंद्राणी बालन फाउंडेशन द्वारा जम्मू कश्मीर में बारामूला क्षेत्र के 150 से अधिक दिव्यांग बच्चों को जल्द ही आगरा में ताजमहल का दीदार कराने के लिए लाया जा रहा है। डागर परिवार स्कूल के ये बच्चे जल्द ही गोलियों-बम विस्फोट की आवाजों से परे खुशनुमा माहौल में ताजमहल घूमने आ रहे हैं। इसके लिए विशेष तैयारियां भी की जा रही हैं।

फाउंडेशन और भारतीय सेना मिलकर कर रही मदद

इंद्राणी बालन फाउंडेशन की जाह्नवी धारीवाल ने बताया कि हमारी फाउंडेशन और भारतीय सेना के चिनार कॉर्प्स के बीच हस्ताक्षरित समझौता किया गया है। कश्मीर में आतंक की स्थिति में बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से वंचित न रहना पड़े। इसलिए, संस्थान ने इस शैक्षिक योजना की शुरुआत की। दिव्यांग बच्चों की विशेष जरूरतों को ध्यान में रखते हुए ऐसे ही स्कूल को तैयार किया गया है। साथ ही, स्कूल में विभिन्न गतिविधियों को भी उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि बच्चों को आगरा के ताजमहल समेत दूसरे पर्यटन स्थलों पर भी ले जाया जाएगा, लेकिन ताज को लेकर बच्चों में काफी उत्साह है। आगरा में बच्चों के स्पेशल वेलकम के लिए भी कुछ संस्थाएं भी कुछ कार्यक्रम करने का प्लान कर रही हैं।

Edited By: Prateek Gupta