आगरा, जेएनएन। वात्सल्य ग्राम में सेल्फ रिलान्यस विद् सेल्फ रेस्पेक्ट पर आधारित शैक्षणिक भ्रमण पर अमेरिका के न्यू टाउन स्कूल से आई छात्राओं की विदाई एवं सम्मान समारोह रंगारंग कार्यक्रमों के साथ आयोजित हुआ। पंच दिवसीय भ्रमण के दौरान विदेशी छात्राओं ने समविद् गुरुकुलम में भारत की कला-संस्कृति को जाना और समझा।

वात्सल्य ग्राम के गोकुलम में आयोजित समारोह का उद्घाटन करते हुए साध्वी ऋतम्भरा ने कहा आज यहां भारत और अमेरिका की कला-संस्कृति का आदान प्रदान हुआ है। यदि भारत की आत्मा और पश्चिम का शरीर मिल जाए तो यह संसार सुंदर होगा। पूरब और पश्चिम का मिलन दुनिया का स्वरूप बदल सकता है। हमारी संस्कृति में अतिथि को देवतुल्य माना है भारत की मिट्टी अपने लिए नहीं, अपनों के लिए जीना सिखाती है।

समारोह में यूएसए के न्यू टाउन स्कूल की छात्राओं ने पांच दिवसीय दौरे में हर दिन सुबह 5 से रात्रि 10 बजे तक की दिनचर्या में मनोयोग से कला-संस्कृति, नृत्य-संगीत एवं योग का प्रशिक्षण लिया। इसी प्रशिक्षण का प्रदर्शन छात्राओं ने सम्मान समारोह में किया। वेद मंत्रों का उच्चारण करते हुए रास लीला व मयूर नृत्य की झांकी ने मुग्ध कर दिया। समविद गुरुकुलम, कृष्णा ब्रह्मरतन, वैशिष्ट््यम स्कूल के बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुति दी। स्पेशल ओलंपिक में 500 मीटर की रोलर स्केङ्क्षटग दौड़ में गोल्ड मेडल लेकर आई आयुषी को साध्वी ऋतंभरा ने 21 हजार व वैशिष्ट््यम विद्यालय ने दस हजार रुपए प्रदान कर सम्मानित किया। साध्वी ऋतंभरा ने विदेशी छात्राओं का पटका ओढ़ा व स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मान किया।

 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस