आगरा, जेएनएन। वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में आई ब्राजील की युवती से शादी करने और बेटी पैदा होने के बाद उसे छोड़कर भागे पश्चिम बंगाल निवासी युवक के खिलाफ पुलिस अभी तक कुछ नहीं कर सकी है। कोतवाली में मुकदमा दर्ज होने के डेढ़ साल बाद भी मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पीडि़त महिला एकबार फिर कोतवाली के चक्कर काटकर परेशान हो रही है।

महिला मारा गिगिया एल्विश थैरीरा के अनुसार पश्चिम बंगाल के नादिया निवासी चंदन दास से उसकी मुलाकात 28 दिसंबर 2011 को इस्कॉन मंदिर में हुई थी। मुलाकात के कुछ दिन बाद दोनों ने शादी कर ली। शादी के बाद 29 अक्टूबर 2012 को उनके बेटी हुई।

महिला के अनुसार 1 फरवरी 2016 को चंदन दास उसे और बेटी को छोड़कर नादिया चला गया। इसके बाद लौटकर वृंदावन नहीं आया। परेशान महिला बार-बार पति को फोन करती है और पति उसे पहचानने से ही इन्कार कर देता है। महिला ने मथुरा में अधिवक्ताओं से कानूनी सलाह ली और 7 मई 2016 को कोतवाली में पति चंदन दास के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। पीडि़ता का आरोप है कि पुलिस ने अब तक मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है।

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस