आगरा: वायरल संक्रमण में मरीज बुखार से कम, दर्द से ज्यादा कराह रहे हैं। हालांकि इसकी मियाद 10 से 15 दिन ही है। वहीं सोमवार को एसएन, जिला अस्पताल और निजी क्लीनिक पर बुखार के मरीजों की लाइन लगी रही।

एसएन के फिजीशियन डॉ. मृदुल चतुर्वेदी ने बताया कि वायरल संक्रमण में बुखार ज्यादा तेज नहीं आता। यह दो-तीन दिन में ठीक हो जाता है लेकिन शरीर का दर्द ज्यादा तड़पाता है। मरीज ठीक से खड़ा भी नहीं हो पाता। यूं तो वायरल संक्रमण पांच से सात दिन में ठीक हो जाता है लेकिन इस बार 10 से 15 दिन तक मरीज कराह रहे हैं। इसके बाद खांसी सही होने में 20 से 25 दिन लग रहे हैं। सीएमओ डॉ. मुकेश वत्स ने बताया कि एसएन और जिला अस्पताल में डेंगू और मलेरिया के मरीजों के इलाज की व्यवस्था की गई है। मलेरिया के आने लगे केस

एसएन, जिला अस्पताल के साथ ही निजी हॉस्पिटलों में मलेरिया के केस पहुंचने लगे हैं। डेंगू संदिग्ध मरीज भी हॉस्पिटल में भर्ती हैं। इनके सैंपल की जांच की जा रही है। ये करें

- वायरल संक्रमण होने पर पानी का सेवन अधिक करें,

- बाजार का खाना ना खाएं, हल्का खाना खाएं।

- मच्छरों से बचने के लिए फुल शर्ट पहनें।

- पैरासीटामोल टेबलेट ले सकते हैं। डॉक्टर के परामर्श से दवाएं लें। ये हैं लक्षण

वायरल - शरीर में तेज दर्द, बुखार, सर्दी जुकाम और खांसी।

मलेरिया - अधिकांश केस में ठंड लगकर बुखार आना, ठंड लगे बिना भी बुखार आ सकता है। भूख ना लगना, पेट दर्द होना।

डेंगू - तेज बुखार, शरीर में टूटन और चकत्ते पड़ना। प्लेटलेट काउंट कम होना।

Posted By: Jagran