आगरा, प्रतीक गुप्‍ता। कोविड-19 का संक्रमण अब भी जारी है, इसका अब तक कोई स्थाई इलाज नहीं मिला है। लेकिन इससे मरीज ठीक भी हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार कोविड-19 से बचाव के उपायों के बारे में जानकारी दी जा रही है और उनका पालन करने के लिये कहा जा रहा है। इस बीच आयुष मंत्रालय ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए नई गाइडलाइंस जारी की है। इसके अनुसार रोजाना योग करने, च्यवनप्राश का सेवन करने, गिलॉय, जीरा, हल्दी धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और कोविड-19 से बचाव हो सकेगा।

आयुर्वेद डॉक्टर अवधेश शर्मा ने बताया कि इलाज से बेहतर रोकथाम होती है। इसके लिए हमें अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने की जरूरत है। आयुष मंत्रालय के द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार गर्म पानी पीने, ताजा खाना खाने, च्यवनप्राश का सेवन करने और योग करने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और कोविड-19 से बचाव हो सकेगा।

आयुष मंत्रालय की नई गाइडलाइंस

- आयुष मंत्रालय ने कहा कि दिनभर गर्म पानी पीएं। गर्म ताजा बना खाना ही खाएं।

- कम से कम 30 मिनट तक योग का अभ्यास, प्राणायाम और ध्यान लगाना बहुत महत्वपूर्ण है।

- भोजन पकाने के समय इसमें हल्दी, जीरा और धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है।

- इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए मंत्रालय ने सुबह 1 चम्मच च्यवनप्राश खाने की सलाह दी है।

- जो डायबिटीज के रोगी हैं, उन्हें बिना शुगर वाला च्यवनप्राश खाने की सलाह दी गई है।

- दिन में 1 या 2 बार हर्बल चाय पीएं. तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी अदरक और किशमिश का काढ़ा ले सकते हैं।

- 150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी डालकर पीने की सलाह दी गई है।

- सुबह और शाम अपने दोनों नथूनों में तिल या नारियल का तेल या घी लगाएं।

आयुष मंत्रालय के मुताबिक, देशभर के जाने-माने डॉक्टरों ने इन उपायों के बारे में जानकारी दी है, जो व्यक्ति की इम्युनिटी को बढ़ाने में बेहद कारगर हैं। सूखी खांसी के लिए दिन में 1 बार पुदीने की ताजा पत्ती या अजवाइन के साथ भाप लेने के बारे में भी बताया गया है। वहीं, खांसी या गले में खराश होने पर दिन में 2-3 बार प्राकृतिक शक्कर या शहद के साथ लौंग का पाउडर लेने के लिए सलाह दी है। मंत्रालय का कहना है कि ये उपाय आमतौर पर सामान्य सूखी खांसी या गले में सूजन इन उपायों से कम होती है। अगर लक्षण फिर भी बने रहते हैं और ठीक नहीं होते तो डॉक्टर को अवश्य दिखाएं।

रोज खाएं च्यवनप्राश

कोरोना के बिना लक्षण वाले मरीज या फिर हल्के लक्षण वाले मरीज अश्वगंधा और गिलोय का नियमित सेवन करेंगे तो फायदा होगा। कोरोना से ठीक हो गए मरीज भी नियमित रूप से च्वनप्राश खाएं। ये तमाम आयुर्वेदिक उपाय ना केवल आपको स्वस्थ रखेंगे, बल्कि बीमारी से लड़ने में भी मदद करेंगे।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस