जासं, आगरा : एक हसरत ताज देखने की। मुश्किलें ताज के अंदर पहुंचने की। आए दिन वीकैंड पर जाम के हालात, वाहनों की पार्किंग में दिक्कतें, फिर लंबी कतारों में इंतजार। ताज पर भीड़ का प्रबंधन नहीं होने से पर्यटक परेशान हो रहे हैं। शनिवार को भी ताजमहल पर भीड़ के चलते इस तरह के हालात बने।

छुट्टी का दिन होने के कारण बड़ी संख्या में पर्यटक ताज का दीदार करने पहुंचे। इस दौरान ताज के पूर्वी और पश्चिमी गेट पर सुबह 11 बजे से ही पर्यटकों की लंबी कतारें लग गई। भीड़ के चलते अंदर गए दो-तीन पर्यटक अपने बच्चों से बिछुड गए। सीआइएसएफ की मदद से इन बच्चों को माता-पिता से मिलवाया गया। वहीं भीड़ के चलते बुजुर्ग लोग काफी परेशान हुए। कई लोगों ने बाहर निकलने वाले रास्तों से प्रवेश करने की कोशिश की। अधिकारियों से अपने जुगाड़ लगाए। प्रवेश नहीं मिला तो सीआइएसएफ कर्मियों से भी झगड़ पड़े।

वहीं अत्यधिक वाहन आने से पश्चिमी गेट पर दोपहर 12 बजे ही पार्किंग फुल हो गई। पूर्वी गेट पार्किंग पर भी इस तरह के हालात बने। कई वाहन चालक अपने वाहन सड़कों पर इधर-उधर लगाकर चले गए। कई पर्यटक बसें सड़क किनारे ही खड़ी हो गई। इसके चलते शिल्पग्राम, पुरानी मंडी चौराहा एवं पश्चिमी गेट पर जाम के हालात बन गए। जिन पर्यटकों को वाहन पार्किंग के लिए जगह नहीं मिली। वे बिना ताज देखे ही लौट गए।

----

पर्यटक ने की हाथापाई

ताज पर भीड़ के दवाब का गुस्सा शनिवार को सीआइएसएफ के एक जवान को झेलना पड़ा। पूर्वी गेट पर लंबी लाइनें देख एक पर्यटक ने निकासी रास्ते से प्रवेश करने की कोशिश की। इस दौरान सीआइएसएफ जवान ने रोका तो पर्यटक ने हाथापाई की। उसने सीआइएसएफ जवान पर लात-घूंसे थप्पड़ चलाए। सीआइएसएफ के अन्य जवानों ने बीच-बचाव किया। मौके पर मौजूद ताज सुरक्षा पुलिस ने पर्यटक को पकड़ा। बाद में उसे छोड़ दिया गया। ताज सुरक्षा सीईओ मोहसिन खान ने बताया कि पर्यटक सेना का जवान था। सीआइएसएफ द्वारा कोई लिखित शिकायत नहीं दी गई। इसलिए पर्यटक को छोड़ दिया गया।

----

42910 - कुल पर्यटक

37908 - भारतीय

617 - सार्क

4385 - विदेशी

Posted By: Jagran