जागरण टीम, आगरा। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शनिवार को गांव करकोली और बड़ापुरा में छापामार कार्रवाई की। दो झोलाछापों के क्लीनिक से एक्पायरी डेट के इंजेक्शन और नींद की गोलियां बरामद हुई। दोनों क्लीनिक को सील कर दिया गया है।

पिनाहट सामुदायिक स्वास्थय केंद्र के प्रभारी डा. विजय कुमार के निर्देशन में शनिवार दोपहर एक बजे टीम ने मंसुखपुरा के गांव करकोली और बड़ापुरा के दो झोलाछाप के क्लीनिक पर छापा मारा। सीएचसी प्रभारी ने बताया कि करकौली में वीरी सिंह के क्लीनिक पर एक्सपायरी डेट के इंजेक्शन मिले। वीरी सिंह डाक्टरी से संबंधित कोई भी डिग्री या अन्य दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर सके। वहीं बड़ापुरा में राजकुमार तोमर के क्लीनिक से नींद की गोलियां मिलीं। उनके पास भी दस्तावेज नहीं थे। दोनों ही झोलाछाप के क्लीनिक को सील कर दिया गया है। सीएचसी प्रभारी के मुताबिक झोलाछापों के विरुद्ध अभियान जारी रहेगा। फार्मेसी के छात्रों को प्रमोट करने की मांग

जागरण टीम, आगरा। फार्मेसी कालेजों के प्रबंधकों के प्रतिनिधिमंडल ने लखनऊ में प्रावधिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश के सचिव सुनील कुमार सोनकर से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल में शामिल भाजपा नेता रामेश्वर चौधरी ने बताया कि ज्ञापन के माध्यम से फार्मेसी के छात्रों को पिछले वर्ष की तरह प्रमोट करने की मांग की गई। कहा कि ग्रामीण अंचल में छात्र-छात्राओं के पास लैपटाप और एंड्रायड मोबाइल की व्यवस्था नहीं है। लिहाजा उन्हें आनलाइन परीक्षा देने में काफी परेशानी होगी। वहीं संभावित तीसरी लहर के चलते अभिभावक भयभीत हैं। ऐसी स्थिति मे डीफार्मा प्रथम वर्ष और द्वितीय वर्ष के छात्र छात्राओ को प्रमोट करने की अनुमति प्रदान करें। प्रतिनिधिमंडल में अनिल कुमार गुप्ता, आलोक सिंह, सत्यपाल सिंह, मनोज सिंह, शिव बाबा, संदीप सिंह, इमरान शामिल रहे।

Edited By: Jagran