आगरा(जेएनएन): लग्जरी जिंदगी जीने और शादी में लिया गया लाखों का कर्ज चुकाने के लिए युवक लुटेरे बनकर लूट की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे।

खेरागढ़ थाना क्षेत्र में शुक्रवार को हुई लूट की घटना में संलिप्त आरोपियों को पुलिस ने मंगलवार को जब दबोचा तो उनके मुंह से सच सुनकर पुलिसकर्मी भी हैरान हो गए।

पकड़े गए लुटेरों में से एक की अभी कुछ ही समय पूर्व शादी हुई है। आरोपित के मुताबिक उसने शादी धूमधाम से करने के लिए लाखों का कर्जा लिया था। इसे ही चुकाने के लिए उसने अपराध का रास्ता अपनाया।

दरअसल शुक्रवार को देर रात खेरागढ़ थाना क्षेत्र में पेट्रोल पंप कर्मी से लूट हुई थी। घटना के बाद पीड़ित की तहरीर के आधार पर पुलिस टीम गठित कर आरोपियों के खिलाफ अभियान में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार आरोपियों से लूट के माल के साथ एक तमंचा भी बरामद हुआ है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया कि अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए वे लूट की घटनाओं को अंजाम देते थे। आरोपियों में से एक सोनू ने अपनी शादी का कर्ज 350000 रुपये चुकाने के लिए लूटपाट का रास्ता अपनाया था। थाना प्रभारी नरेंद्र शर्मा ने बताया कि अभी एक आरोपी फरार है। आरोपी को पकड़ने के लिए लगातार दबिश दी जा रही है।

बता दें कि शुक्रवार की शाम पेट्रोल पंप कर्मी विजय पुत्र मथुरा प्रसाद अपने काम से घर लौट रहा था। रास्ते में दूधाधारी स्कूल के पास पीछे से आये चार लुटेरों ने तमंचे के बल पर उसके पर्स में रखे चार हजार रुपये, मोबाइल व बाइक की चाबी लूट ली और फरार हो गए। पीड़ित की सूचना पर टीम गठित कर आरोपितों को पकड़ने की कार्रवाई हुई। शनिवार को तीन शातिरों को भिलावली मोड़ से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों ने पूर्व में हुई घटनाओं में भी शामिल रहने की बात कबूली है। थाना प्रभारी के अनुसार आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।

Posted By: Jagran