जागरण टीम, आगरा। दीवार और टिनशेड गिरने से मलबे में दबकर मृत छह वर्षीय ज्योति और दो वर्षीय राधिका के शव पोस्टमार्टम के बाद शनिवार दोपहर गांव में पहुंचे तो कोहराम मच गया। मां शकुंतला का कलेजा फट पड़ा तो शिवानी छोटी बहनों के शवों से लिपटकर बिलखने लगी। यह दृश्य देख मां-बेटी को ढांढस बंधाने आई महिलाओं भी फफकने लगीं। गमगीन माहौल के बीच शवों का अंतिम संस्कार किया गया।

क्षेत्रीय विधायक रामप्रताप सिंह चौहान ने खंदौली ब्लाक की ग्राम पंचायत रहन कलां के गांव नगला नथोली पहुंचकर मृतकों के स्वजन को सांत्वना दी। उन्होंने पीड़ित परिवार को आठ लाख पांच हजार दो सौ रुपये की मुआवजा राशि का स्वीकृति पत्र सौंपा। बताया कि सरकार की ओर से दैवीय आपदा योजना के अंतर्गत मुआवजा राशि दी जा रही है। इसमें चार-चार लाख रुपये मुआवजा राशि के और 5200 रुपये मकान की मरम्मत के लिए हैं। वहीं पूर्व विधायक डा. धर्मपाल सिंह ने राजमिस्त्री महेंद्र सिंह को सरकार की तरफ से आवास दिलाने की मांग की। इस दौरान एसडीएम प्रियंका सिंह, तहसीलदार हेमचंद शर्मा, विष्णु ठाकुर, डा. भूपेंद्र चौहान, केशव वर्मा, अमित सिकरवार, विक्रम सिकरवार, रवि चौहान उपस्थित रहे। तेज बारिश के दौरान शुक्रवार को नगला नथोली में राजमिस्त्री महेंद्र सिंह के मकान की दीवार और टिनशेड गिर गया था। इसमें दबकर उनकी दो बेटियों की मौत हो गई थीं। वहीं पत्‍‌नी और एक बेटी घायल हो गई थीं। ग्राम प्रधान ने अंडरपास से निकलवाया पानी

जागरण टीम, आगरा। तेज बारिश के दौरान अंडरपास में भरा पानी निकलवा दिया गया है। एत्मादपुर-बरहन मार्ग स्थित नगला गोल बिजलीघर के पास शुक्रवार को हुई बारिश के बाद पानी भर गया था। इससे राहगीरों को मुश्किल हो रही थी। शनिवार को ग्राम प्रधान बरहन भूदेव प्रसाद ने दो ट्रैक्टरों की मदद से पानी निकलवाया। इससे ग्रामीणों को राहत मिली।

Edited By: Jagran