आगरा, अली अब्बास। स्मार्ट टीवी को हैक कर उससे आपकी निजता सार्वजनिक करने का खतरा बढ़ गया है। जरा सी चूक बेडरूम की निजता को इंटरनेट और सोशल मीडिया पर वायरल कर सकते हैैं। पिछले महीने गुजरात के सूरत में ऐसा ही मामला सामने आया।

ताजनगरी में हर साल 50 हजार से अधिक टीवी बिकते हैं। इनमें डेढ़ साल के दौरान स्मार्ट टीवी की बिक्री का ग्राफ 70 फीसद बढ़ा है। उसी तेजी से लोगों की निजता हैक होने के खतरे की आशंका का ग्राफ भी बढ़ गया है। जिसने साइबर क्राइम विशेषज्ञों का ध्यान इस पर ओर आकृष्ट किया है। स्मार्ट टीवी का प्रयोग करते समय क्या सावधानी बरती जाए, इस बारे में लोगों को आगाह करने लगे हैं।

ऐसे हैक हो सकता है स्मार्ट टीवी 

आगरा पुलिस साइबर सेल के प्रभारी अमित कुमार के अनुसार, बेडरूम में लगे अधिकांश स्मार्ट टीवी पर इंटरनेट चला सकते हैं। इसके चलते स्मार्ट टीवी में लगे सॉफ्टवेयर की मदद से उसे हैक किया जा सकता है। यदि आपके द्वारा टीवी में कोई एप डाउनलोड किया गया है तो उसका एक्सेस भी हैकर के पास पहुंच सकता है। इससे वह सीधे टीवी का एक्सेस हासिल कर सकता है। टीवी के इंटरनेट के जरिए कनेक्ट होने से हैकर उसके फ्रंट कैमरे के द्वारा आपके फोटो हासिल कर सकते हैं।

कीमतें गिरने से बढ़ा बिक्री का ग्राफ

दो साल पहले तक स्मार्ट टीवी की कीमत 35 से 40 हजार रुपये थी। जबकि सामान्य एलईडी टीवी 12 से 15 हजार में मिलता था। इस समय स्मार्ट टीवी 12 से 25 हजार रुपये में बाजार में उपलब्ध है। सामान्य एलईडी टीवी से यह दो से तीन हजार रुपये ही महंगा है। ऐसे में युवा वर्ग स्मार्ट टीवी खरीद रहे हैं।

हैकर से बचने के लिए निम्न बातों का ध्यान जरूर रखें

- स्मार्ट टीवी के साथ वेब कैम को कनेक्ट नहीं करना चाहिए। वायरस के माध्यम से हैक करके हैकर उसे रिमोटली एक्सेस कर सकता है।

- वेब कैम की पोजीशन इस तरह नहीं रखनी चाहिए कि वह आपके एकांत स्थान को कवर कर सके।

- जो भी इंटरनेट पर है, वह पूर्ण रूप से सुरक्षित नहीं है। इसलिए स्मार्ट टीवी में एंटी वायरस का इस्तेमाल करें।

व्यापारियों का नजरिया 

स्मार्ट टीवी बाजार में दस साल पहले आया था। मगर, उसकी डिमांड दो साल से बढऩा शुरू हुई। एक साल में 70 फीसदी बिक्री बढ़ी है। फाइनेंस की सुविधा ने भी स्मार्ट टीवी की बिक्री का ग्राफ बढ़ाने में मदद की।

विनय मित्तल, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के विक्रेता

गूगल से अटैच होने और उससे वॉयस कंट्रोल से स्मार्ट टीवी की डिमांड छह महीने में ज्यादा बढ़ी है। एक महीने पहले स्मार्ट टीवी में नया फीचर एलेक्सा सिस्टम भी लांच हुआ है। रही सिक्योरिटी की बात तो नेटफ्लिक्स या अमेजॉन प्राइम वाई-फाई चलाने का कोड होता है। आपने कोड डाल रखा है तो दूसरा उसे ऑपरेट नहीं कर सकता।

आदित्य अग्रवाल इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के विक्रेता

 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप