आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते ताजमहल में भीड़ एकत्र होने से रोकने को गाइड और फोटोग्राफर पर पाबंदी लगाई गई है। अब वो स्मारक के अंदर से काम नहीं कर सकेंगे। उन्हें पर्यटकों के साथ ही स्मारक में प्रवेश मिलेगा।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) ने शनिवार को ताजमहल के रायल गेट पर गाइडों व फोटोग्राफरों के लिए स्मारक के बाहर से काम करने का नोटिस चस्पा कर दिया। नोटिस के अनुसार गाइड व फोटोग्राफर पर्यटक या पर्यटक समूह के साथ स्मारक में प्रवेश करेंगे। उन्हें यह भी सुनिश्चित करना होगा कि वो उन्हीं पर्यटकों के साथ स्मारक से बाहर जाएं, जिनके साथ अंदर आए थे। बिना पर्यटक के स्मारक परिसर में घूमने वाले गाइड व फोटोग्राफर के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। उनका लाइसेंस भी निरस्त किया जा सकता है। स्मारक परिसर में प्रवेश व निकास के समय गाइड व फोटोग्राफर को रजिस्टर में प्रविष्टि करते समय अपना नाम, लाइसेंस नंबर, मोबाइल नंबर व आने-जाने का समय भी अंकित करना होगा। फोटोग्राफर अपने निर्धारित बैच में ही काम कर सकेंगे।

अधीक्षण पुरातत्वविद् राजकुमार पटेल ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्मारक में भीड़ एकत्र होने से रोकने और कोविड प्रोटोकाल के पालन को अस्थायी तौर पर यह व्यवस्था की गई है।

 

Edited By: Prateek Gupta