आगरा, जेएनएन। आगरा कैंट रेलवे स्‍टेशन पर जीआरपी इंस्‍पेक्‍टर ललित त्‍यागी की गिरफ्तारी पर लोगों ने सहज यकीन नहीं किया। चर्चा उन्‍हें फंसाए जाने की शुरू हुई लेकिन सहारनपुर पुलिस ने जैसे ही सबूतों का पिटारा खोला तो शक की गुंजायश ही खत्‍म हो गई। लूटी गई रकम का बड़ा हिस्‍सा भी सहारनपुर की पुलिस ने त्‍यागी के पास से बरामद किया है। ललित त्‍यागी लंबे समय से आगरा मंडल में तैनात थे। पदोन्‍नति भी यहीं पाई। अधीनस्‍थ अब इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।
मामला यह था कि सहारनपुर के नागल थाना क्षेत्र में दाे दिन पहले गेंहू व्यापारी के घर डकैती पड़ी थी। आरोप यह है कि जीआरपी इंस्पेक्टर ललित त्‍यागी ने अपने साथियों के साथ मिलकर गेहूं व्यापारी से आठ लाख की रकम लूटी थी। दुसाहस्सिक ढंग से की गई लूट के इस मामले में पुलिस ने आगरा के जीआरपी इंस्पेक्टर ललित त्यागी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार इनके कब्जे से लूटी गई रकम में से करीब 4 लाख 94 हज़ार की बरामदगी भी पुलिस ने कर ली है।
घटनाक्रम यह रहा कि सोमवार को नागल थाना क्षेत्र के एक मकान में कार में सवार हाेकर आए बदमाशाें ने डकैती डाली थी और करीब 8 लाख रुपये लूट लिए थे। इस वारदात काे अंजाम देकर लुटेरे फरार हाे गए थे। गेहूं व्यापारी अख्तर ने पुलिस को बताया था कि लुटेरे पुलिस की वर्दी में आए थे और रुपए लूट कर फरार हो गए। इस वारदात के बाद पुलिस ने जब लूट करके भागे इन लोगों की तलाश की तो सहारनपुर-मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे के राेहाना टोल टैक्स पर बदमाशाें की गाड़ी का नंबर ट्रेस हो गया। इसके बाद पुलिस को लुटेराें तक पहुंचने में देर नहीं लगी। पुलिस को जैसे ही पता चला कि गाड़ी आगरा की है तो नागल पुलिस की एक टीम आगरा आ गई । पुलिस ने लुटेरों को आगरा के थाना लोहामंडी क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। इनमें आगरा के ही जीआरपी थाने का इंस्पेक्टर भी शामिल था। सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने पूरे मामले की जानकारि देते हुए बताया कि वादी अख्तर गेंहू की खरीद फरोख्त में किसानों के साथ धोखाधड़ी करता था बशीर नाम के शख्‍स को इसकी जानकारी थी। बशीर ने ही आगरा में तैनात पुलिस इंस्पेक्टर व सिपाहियों को अख्तर से पैसे लूटने की बात कही और उनके साथ सहारानपुर आकर घटना को अंजाम देकर फरार हो गए । मौके से मिले कुछ सबूतों के आधार पर तीन लोग गिरफ्तार किए गए। जिसमें एक इंस्पेक्टर ओर दो सिपाही शामिल हैंं। लूटी गई रकम का आधा से ज्‍यादा हिस्‍सा इनसे बरामद किया गया है।


महकमे में है तेजतर्रार छवि

आरोपित इंस्‍पेक्‍टर ललित त्‍यागी की महकमे में छवि तेजतर्रार रही है। मथुरा में काफी समय तैनात रहने के बाद त्‍यागी टूंडला में जीआरपी थाना पहुंचे थे। इसके बाद आगरा फोर्ट और अब कैंट स्‍टेशन पर तैनात थे। यहां अपनी तैनाती के दौरान कई चोर और लुटेरे गिरफ्तार किए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप