आगरा, जागरण संवाददाता। लोकसभा चुनाव-2019 से ठीक पहले केंद्र सरकार ने आगरा मेट्रो को हरी झंडी दे दी। यह निर्णय गुरुवार शाम नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर मेट्रो प्रोजेक्ट को मंजूरी की जानकारी दी। मेट्रो का कुल प्रोजेक्ट 8379 करोड़ रुपये का है। राज्य सरकार आगामी वित्तीय साल में 175 करोड़ रुपये रिलीज करने की घोषणा कर चुकी है। बता दें कि फरवरी में नई दिल्ली में हुई प्रोजेक्ट इन्वेस्टमेंट बोर्ड (पीआइबी) की बैठक में मेट्रो के संचालन को मंजूरी मिली थी। डेढ़ दशक से चल रहे थे प्रयास आगरा शहर में जाम की समस्या को देखते हुए डेढ़ दशक से मेट्रो के संचालन की मांग उठ रही थी। सपा शासनकाल में डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार हुई। शासन ने डीपीआर में बदलाव के आदेश दिए। भाजपा सरकार ने डीपीआर को रिजेक्ट कर दिया। रेलवे की संस्था राइट्स ने फिर से डीपीआर तैयार की। इस बीच नई मेट्रो नीति के तहत डीपीआर बनाने के आदेश दिए गए। अब तक चार बार मेट्रो की डीपीआर बदल चुकी है।

फैक्ट फाइल

- आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट की लागत 8379 करोड़ रुपये है।

- आगरा मेट्रो की कुल लंबाई 30 किमी होगी

- दोनों कॉरीडोर पर तीस स्टेशन होंगे।

- दोनों कॉरीडोर पर 22 स्टेशन एलीवेटेड और आठ स्टेशन अंडरग्राउंड होंगे।

-आगरा मेट्रो में तीन डिब्बे होंगे। एक डिब्बे की कीमत 11 करोड़ रुपये होगी।

-दोनों रूट पर तीस ट्रेनों का संचालन होगा।

-पहले चरण में बीस ट्रेनें खरीदी जाएंगी। इनकी खरीद चाइना से होगी।

-पांच मिनट के अंतराल पर मेट्रो मिलेगी।

- दो मिनट में एक किमी का सफर तय होगा।

- उप्र मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा मेट्रो ट्रैक व स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

- मेट्रो में एडवांस सिक्योरिटी फीचर में दरवाजा पर डबल लॉक होगा।

- डिस्प्ले सिस्टम, पब्लिक एनाउंसमेंट सिस्टम भी होंगे।

- महिलाओं के लिए सीटें रिजर्व होंगी। कॉरीडोर का नाम, एलीवेटेड ट्रैक, अंडरग्राउंड ट्रैक, कुल दूरी सिकंदरा

-ताज पूर्वी गेट, 6.35 किमी, 7.67 किमी, 14 किमी आगरा कैंट-कालिंदी विहार, 16 किमी, शून्य, 16 किमी

यह होंगे मेट्रो के स्टेशन

पहला कॉरीडोर :

सिकंदरा, गुरु का ताल, आइएसबीटी, शास्त्रीनगर, विश्वविद्यालय, आरबीएस कॉलेज, राजा की मंडी, आगरा कॉलेज, एसएन मेडिकल कॉलेज, जामा मस्जिद, आगरा फोर्ट स्टेशन, ताजमहल, फतेहाबाद रोड, बसई, ताज पूर्वी गेट।

दूसरा कॉरीडोर :

आगरा कैंट, सुल्तानपुरा, सदर बाजार, प्रतापपुरा, कलक्ट्रेट, सुभाष पार्क, आगरा कॉलेज, हरीपर्वत, संजय प्लेस, एमजी रोड, सुल्तानगंज की पुलिया, कमला नगर, रामबाग, फाउंड्री नगर, कालिंदी विहार। यह स्टेशन होंगे अंडरग्राउंड पहले कॉरीडोर के आठ स्टेशन अंडरग्राउंड होंगे जिनमें विवि, आरबीएस कॉलेज, राजा की मंडी, आगरा कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, जामा मस्जिद, आगरा फोर्ट, ताजमहल स्टेशन शामिल हैं। खंदारी से ताज तक अंडरग्राउंड होगा ट्रैक पहले कॉरीडोर में खंदारी से ताजमहल तक मेट्रो ट्रैक अंडरग्राउंड होगा।

दो बनेंगे डिपो

मेट्रो के संचालन के लिए दो डिपो बनेंगे। पहला डिपो पीएसी ग्राउंड पर बनेगा। यह 16 हेक्टेअर में होगा। दूसरा डिपो कालिंदी विहार में 12 हेक्टेअर में बनेगा।

मुगलिया शैली में नजर आएंगे स्टेशन

आगरा मेट्रो में तीस स्टेशन होंगे। यह सभी मुगलिया शैली में बनेंगे।

जल्द बनेगा डिटेल एस्टीमेट

मेट्रो का डिटेल एस्टीमेट चार माह के भीतर बनाया जाएगा, जिसमें लैंड एलानइमेंट भी शामिल होगा। कहां पर कितनी जमीन की जरूरत होगी। इसे डिटेल एस्टीमेट में अंकित किया जाएगा। डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) में इसे फिलहाल शामिल नहीं किया गया था।

स्पेशल परपज व्हीकल समिति का होगा गठन

स्पेशल परपज व्हीकल समिति का गठन किया जाएगा, जो मेट्रो के विभिन्न कार्यो पर निगरानी रखेगी। एडीए में बनेगा कार्यालय आगरा में मेट्रो का कार्यालय एडीए में बनेगा। इसके लिए जगह की तलाश की जा रही है।

हाईवे के बीचोबीच से गुजरेगा एलीवेटेड ट्रैक

नेशनल हाईवे टू के बीचोबीच से एलीवेटेड ट्रैक गुजरेगा। डिवाइडर के ठीक ऊपर बनेगा।

28 मिनट में पहुंचेंगे सिकंदरा से ताज

सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक आगरा मेट्रो से यह सफर महज 28 मिनट में पूरा हो जाएगा। आगरा मेट्रो की रफ्तार दो मिनट प्रति किमी होगी। मेट्रो में तीन डिब्बे होंगे। सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट की दूरी 14 किमी है। वर्तमान में दो पहिया वाहन चालकों को यह दूरी तय करने में 45 से 55 मिनट और चार पहिया वाहन चालकों को एक से डेढ़ घंटा का समय लगता है। शिल्पग्राम तक चार पहिया वाहन जाते हैं। मेट्रो से यह सफर 28 मिनट में पूरा हो जाएगा। इसी तरह से आगरा कैंट स्टेशन से कालिंदी विहार पहुंचने में एक घंटा का समय लगता है। रास्ते में जाम भी लगता है। इसकी दूरी 16 किमी है। आगरा मेट्रो यह सफर 32 मिनट में पूरा करेगी।

बड़ी उपलब्धि

आगरा मेट्रो को केंद्र सरकार की मंजूरी मिल गई है। यह बड़ी उपलब्धि है।

- नवीन जैन, मेयर

जाम की समस्‍या से मिलेगी निजात

आगरा मेट्रो के संचालन से जाम की समस्या दूर होगी। कैबिनेट से इसकी मंजूरी मिल गई है। जल्द आगे का कार्य शुरू होगा।

- अनिल कुमार, मंडलायुक्त 

मांग हुई पूरी

 आगरा में लंबे समय से मेट्रो के संचालन की मांग चल रही थी, जो अब जाकर पूरी हुई है।

- एनजी रवि कुमार, डीएम

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप