आगरा, जेएनएन। जल संरक्षण की जिम्‍मेदारी हम सभी की है। गुजरात का जलस्‍तर 1000 फीट नीचे चले जाने के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्‍यमंत्री पद के कार्यकाल के दौरान वहां मुहिम शुरु कर जल संकट को टाल दिया था। वही मुहिम उत्‍तर प्रदेश में भी शुरु करने की जरूरत है। फीरोजाबाद के ऊंधनी गांववासियों को यह सीख दी राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने।

शनिवार सुबह फीरोजाबाद दौरे की शुरुआत गोसेेेेवा से करने के बाद महामहिम जिले के ऊंधनी गांव पहुंची। यहां राज्यपाल ने ऊंंधनी गांव में ग्रामीणों की चौपाल को संबोधित किया। राज्यपाल ने कहा कि जल स्तर यहां तो 150 फ़ीट पर ही है लेकिन गुजरात में तो 1000 फ़ीट नीचे चला गया था। वहां 15 साल पहले ही मोदीजी ने मुख्यमंत्री रहते हुए जल को बचाने की मुहिम शुरू की, जिससे पानी का संकट टल गया। आप सब यहां मुहिम शुरू करिए, पानी बचेगा तभी सब बचेंगे। आज से ही पानी बचाने का संकल्प लें। केंद्र सरकार के कार्यों की तारीफ करते हुए कहा कि पहले न तो परिवार के मुखिया को बेटियों की चिंता थी न सरकार को। प्रधानमंत्री मोदी ने सबकी चिंता करते हुए स्वच्छ भारत मिशन के तहत घर घर शौचालय बनवा दिए। शौचालय बन गए लेकिन इन्हें इस्तेमाल और साफ आपको रखना है। खाने की बर्बादी रोकने की सीख देते हुए कहा कि आज से संकल्प लें कि न तो शादी में खाना बर्बाद करेंगे न घर में। राज्‍यपाल ने यहां लगे स्वास्थ्य विभाग के शिविर, स्कूल आदि का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्कूल पहुंचीं राज्यपाल ने बच्चों से बात की। पढ़ाई और पेंटिंग के बारे में पूछा और बच्चों को फल बांटे। 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप