आगरा, जागरण संवाददाता । पांच माह की रिकार्ड ऊंचाई के बाद सोने के भाव में गिरावट आई है। इससे खरीदारों के चेहरों पर चमक आ गई है। निवेशकों का भी सोने के प्रति रुझान बढ़ा है। जिन लोगों के घरों में आगामी समय में शादियां हैं, वह भी इस समय खरीदारी कर रहे हैं। ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में सोने की मांग बढ़ी है।

पिछले चार दिनों से सोने के भाव हाजिर में 50,500 से 51000 रुपये प्रति 10 ग्राम के बीच हैं। अगस्त 2020 में सोना 58 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गया था। अगस्त 2020 की तुलना में अब दामों में करीब आठ हजार रुपये की गिरावट है। ऐसे में निवेशक इस अवसर को हाथ से जाने नहीं देना चाहते। चौबेजी का फाटक स्थित सराफा बाजार में बंसल आर्नामेंट के रिकू बंसल का कहना है कि भाव गिरने से कच्चा सोना खरीदने वालों की संख्या बढ़ी है। इसके अलावा ऐसे आभूषण जिनका मेकिग चार्ज कम है, उनकी भी बिक्री बढ़ी है। ग्रामीण क्षेत्र से भी अच्छी डिमांड आ रही है। लोगों को लग रहा है कि आने वाले दिनों में सोने के दाम फिर से बढ़ सकते हैं। वहीं, तनिष्क ज्वेलर्स के फ्रेंचाइची अनुराग बंसल का कहना है कि सोने के दाम कम होने से बाजार में तेजी आई है। जिन लोगों के घरों में फरवरी में शादियां हैं, वह इस समय खरीदारी को आ रहे हैं। दाम कम होने से लोगों की खरीदारी का बजट भी बढ़ा है। लोगों को लग रहा है कि दाम फिर बढ़ सकते हैं। आगरा सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष नितेश अग्रवाल का कहना है कि निवेश के लिए सोने को हमेशा अच्छा माना जाता है। जब सोना उच्चतम स्तर पर था, तब भी निवेशकों ने उसे खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी। अब दाम कम होने पर भी निवेशक खरीदारी में दिलचस्पी ले रहे हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप